कल से जंतर-मंतर पर 200 किसान करेंगे प्रदर्शन

0
24
Protest, Jam, Farmers, Police, Water, Rajasthan

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में किसानों का दिल्ली बॉर्डर पर लगातार प्रदर्शन जारी है। इस बीच किसानों ने ऐलान किया है कि हर दिन जंतर मंतर पर 200 प्रदर्शनकारी किसान, चलाएंगे अपनी संसद। सिंघु बॉर्डर पर किसानों के प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे संगठनों ने फैसला किया कि वीरवार से हर रोज 200 किसान जंतर-मंतर पर प्रदर्शन करेंगे। गौरतलब हैं कि किसान और प्रशासन के बीच लगातार बैठकों का दौर चल रहा है लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकल सका है।

क्या है मामला

गौरतलब है कि तीन नए कृषि कानूनों को निरस्त करने की किसान संगठनों की मांगों को उजागर करने के के लिये 26 जनवरी को आयोजित ट्रैक्टर परेड राजधानी की सड़कों पर अराजक हो गई थी, क्योंकि हजारों प्रदर्शनकारियों ने बैरिकेड तोड़ दिये थे, पुलिस से भिड़ गए थे और लाल किले की प्राचीर पर एक धार्मिक ध्वज फहराया था। दिल्ली पुलिस ने रविवार को हुई एक बैठक के दौरान किसान यूनियनों से विरोध प्रदर्शन में शामिल होने वाले लोगों की संख्या कम करने के लिए कहा था, लेकिन किसान यूनियन के नेताओं ने इसे अस्वीकार कर दिया था।

एक दिन बाद, एसकेएम ने दिल्ली पुलिस पर संसद के बाहर उनके विरोध प्रदर्शन को ‘संसद घेराव’ बताते हुए इसके बारे में दुष्प्रचार करने का आरोप लगाया। एसकेएम ने एक बयान में कहा था कि एसकेएम ने पहले ही कहा है कि संसद के घेराव की कोई योजना नहीं है और विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण और अनुशासित होगा। एसकेएम ने पहले कहा था कि मानसून सत्र शुरू होने से दो दिन पहले, सभी विपक्षी सांसदों को सदन के अंदर कृषि कानूनों का विरोध करने के लिए एक चेतावनी पत्र जारी किया जाएगा।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।