मोदी के लिए ऐलान करना इस शख्स को पड़ा भारी! कांग्रेस पार्टी ने किया निष्काषित!

Acharya Pramod Krishnam
मोदी के लिए ऐलान करना इस शख्स को पड़ा भारी! कांग्रेस पार्टी से हुए निष्काषित!

नई दिल्ली। गत शनिवार कांग्रेस ने अनुशासनहीनता और पार्टी विरोधी बयानबाजी के कारण अपने नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम को पार्टी से निष्कासित कर दिया। जोकि कांग्रेस के उत्तर प्रदेश एडवाइजरी काउंसिल के पूर्व सदस्य भी थे। बता दें कि आचार्य ने हाल ही में अयोध्या में बने भव्य राम मंदिर के उद्घाटन समारोह में हिस्सा नहीं लेने को लेकर अपनी ही कांग्रेस की आलोचना की थी। और तो और वे लगातार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ भी कर रहे थे। जोकि उनकी भारी पड़ गई। Acharya Pramod Krishnam

चेन्नई सुपर किंग के इस सलामी बल्लेबाज व उनकी पत्नी ने अपनी बेटी खो दी!

इस संबंध में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने एक बयान जारी कर कहा कि अनुशासनहीनता की शिकायत और पार्टी के खिलाफ बार-बार बयानबाजी को देखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रमोद कृष्णम को 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित कर दिया। इस संबंध में उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव को मंजूरी भी दे दी गई है। उनके कांग्रेस से निकाला जाना सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है।

पीएम मोदी के लिए किया था ऐलान

प्रमोद कृष्णन ने कांग्रेस से निकाले जाने के बाद मीडिया से बातचीत में राजीव गांधी को दिए वचन को लेकर बात की। इस अवसर पर उन्होंने जीवनभर प्रधानमंत्री मोदी के साथ खड़े होने की बात कही। उन्होंने कहा कि मैंने 16-17 साल की उम्र में राजीव गांधी को दिया वचन आज तक निभाया है। लेकिन आज मैं वह वचन तोड़ रहा हूँ और आज इस उम्र में एक बार फिर से संकल्प ले रहा हूं कि मैं आजीवन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा रहूंगा।

आचार्य प्रमोद कृष्णम? | Acharya Pramod Krishnam

बिहार के ब्राह्मण परिवार में जन्मे आचार्य प्रमोद कृष्णम का जन्म 4 जनवरी, 1965 को हुआ। उत्तर प्रदेश के संभल में उन्होंने श्री कल्की फाउंडेशन की स्थापना की। वह कल्की धाम के पीठाधीश्वर भी हैं। 3 दशक से ज्यादा समय से वे कांग्रेस पार्टी से जुड़े हुए हैं। पहली बार उन्होंने 2014 में उत्तर प्रदेश के संभल से लोकसभा चुनाव लड़ा, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा। 2019 में फिर से लखनऊ से उन्होंने चुनाव लड़ा, लेकिन दुर्भाग्यवश यहां से भी उन्हें हार ही मिली। कृष्णम पहले कांग्रेस की उत्तर प्रदेश सलाहकार परिषद का हिस्सा थे, जिसका गठन पार्टी के लिए यूपी प्रभारी के रूप में प्रियंका गांधी वाड्रा की सहायता के लिए किया गया था। इससे पहले प्रमोद कृष्णम को अक्सर ही टीवी डिबेट में देखा जाता रहा है। जोकि कांग्रेस पार्टी का पक्ष रखते हुए नजर आते थे। अभी हाल फिलहाल वे कांग्रेस के खिलाफ बयानबाजी करने लगे थे।

सोशल मीडिया पर बवाल | Acharya Pramod Krishnam

कांग्रेस से निष्कासन के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम को लेकर सोशल मीडिया पर काफी चर्चा चल रही है। तरह-तरह के रिएक्शन देखने को मिल रहे हैं। इस संबंध में विक्रम नाम के एक यूजर लिखते हैं कि ‘लोकसभा सीट के लिए क्या सब नहीं करना पड़ता। ‘ एक अन्य यूजर के अनुसार ‘सत्य और संत को झुठलाया नहीं जा सकता। आचार्य प्रमोद कृष्णम को कांग्रेस पार्टी से निष्कासित करना इस बात को और अधिक बल प्रदान करता है कि कांग्रेस सच में दो गले वाली पार्टी है। उसके समर्थन और सहयोगी पता नहीं।’

Mosquito Tornado Pune: मच्छरों के आतंक ने इंटरनेट किया डांवाडोल!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here