तालिबान राज में अफगानी गायकों और फिल्म कलाकारों की जान आफत में

0
319
Taliban, broad support, Afghan, Eid

कहा- शरीयत के अनुसार काम करें, पेशा बदलने के आदेश

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जा करने के बाद से तालिबान अशरफ गनी सरकार के सहयोगियों के साथ ही कलाकार और आम लोगों को शिकार बनाया जा रहा है। 22 जुलाई को तालिबान ने अफगानिस्तान के लोकप्रिय हास्य कलाकार नजर मोहम्मद उर्फ खाशा ज्वान को मौत के घाट उतार दिया था।

अब तालिबान ने गायक, फिल्म निर्माताओं और अन्य कलाकारों को कड़ी हिदायत दे दी है। तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद से जब पूछा गया कि क्या तालिबान गायकों और फिल्म निर्माताओं को अपना काम जारी रखने की इजाजत देगा? इसके जवाब में मुजाहिद ने कहा कि अगर शरिया के खिलाफ उनका काम मिलता है तो उन्हें अपना पेशा बदल लेना चाहिए।

अफगानिस्तान सिनेमा जगत की कई हस्तियां तालिबान राज के चलते देश छोड़ कर जा रही हैं। अफगानिस्तान की जानी-मानी पॉप स्टार अर्याना सईद भी तालिबान के डर से भारत आ गई हैं। उन्होंने तालिबान के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराया है और भारत को सच्चा दोस्त बताया है। अफगानिस्तान से पलायन को लेकर अब तालिबान ने लोगों को चेतावनी दी है कि वह किसी भी अफगान को देश नहीं छोड़ने देगा।

तालिबान ने कहा है कि वह अफगान नागरिकों को काबुल एयरपोर्ट की यात्रा करने से रोकेगा, ताकि कोई अफगान देश से बाहर जाने वालों में विमानों में विदेश न चला जाए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।