मुख्यमंत्री के तौर पर मेरा हर काम शहीद भगत सिंह की सोच के मुताबिक होगा :चन्नी

0
155
Charanjit-Singh-Channi sachkahoon

खटकड़ कलां (शहीद भगत सिंह नगर) (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब के मुख्यमंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने आज संकल्प लिया कि राज्य के मुखिया होने के नाते उनका हर काम शहीद-ए-आजम भगत सिंह के आदर्श और सोच के मुताबिक होगा। शहीदेआजम की जयंती के मौके पर आज श्री चन्नी यहां पहुंचे और शहीद स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया । उनके साथ विधानसभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह, कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह और अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग के साथ थे। वे शहीद भगत सिंह के पैतृक घर में भी गए। महान शहीद के घर प्रवेश होने से पहले मुख्यमंत्री ने शहीद के पैतृक घर के प्रवेश द्वार पर शीश झुका कर नमन किया। शहीद-ए-आजम के पैतृक घर में विजिटर बुक में मुख्यमंत्री ने भावुक संदेश दर्ज करते हुये लिखा, ‘धन्य है यह जगह जिसने शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह जैसा नेता पैदा किया। इस मिट्टी को अपने मस्तक पर लगाकर मुझे बेहद खुशी हुई। मैं यह प्रण लेता हूँ कि बतौर मुख्यमंत्री मैं हर काम इस सोच के साथ करूँगा कि भगत सिंह मुझे देख रहे हैं।

चन्नी ने कहा कि इस पवित्र धरती पर राष्ट्रीय स्वतंत्रता संघर्ष खातिर अपना जीवन न्योछावर करने वाले महान शहीद को श्रद्धाँजलि भेंट करके अपने आप को सौभाग्यशाली महसूस कर रहे हैं। वह शहीद-ए-आजम के सपने साकार करने में कोई कसर बाकी नहीं छोड़ेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवा अवस्था में शहीद भगत सिंह की शहादत ने नौजवानों को राष्ट्रीय आजादी संघर्ष में शामिल होने के लिए प्रेरित किया । शहीद-ए-आजम लाखों नौजवानों के लिए देश की निष्काम सेवा करने के लिए सदा ही प्रेरणा का स्रोत बने रहेंगे। उन्होंने नौजवानों को शहीद भगत सिंह के नक्शे कदमों पर चलने का आहवान किया जिससे भारत को प्रगतिशील और खुशहाल मुल्क बनाया जा सके।

मुख्यमंत्री ने शहीद के रिश्तेदारों को भी सम्मानित किया

इससे पहले मुख्यमंत्री ने शहीद के पिता स्व. किशन सिंह के समाधि स्थल पर श्रद्धाँजलि भेंट की। उन्होंने शहीद भगत सिंह की प्रतिमा पर भी श्रद्धा-सुमन भेंट किये। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने शहीद के रिश्तेदारों को भी सम्मानित किया जिनमें सतविन्दर सिंह और हरजीवन सिंह गिल, शहीद की बहन अमर कौर के पोते, भाई स्व. कुलतार सिंह के पुत्र स. किरणजीत सिंह, भाई स्व. कुलबीर सिंह की बहु श्रीमती तेजविन्दर कौर संधू, भाई स्व. कुलबीर सिंह सिंह की पोती अनुश प्रिया और शहीद सुखदेव थापर के परिवार से अशोक थापर और विशाल नायर शामिल हैं।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने नौजवानों और खेल क्लबों को 31 खेल किटें भी बांटीं। इस मौके पर पंजाब विधान सभा के स्पीकर राणा के.पी. सिंह, कैबिनेट मंत्री राणा गुरजीत सिंह और अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग, विधायक अंगद सिंह, चौधरी दर्शन लाल और नवतेज सिंह चीमा, पूर्व विधायक तरलोचन सूंध, चेयरमैन जिला योजना कमेटी सतबीर सिंह पल्ली झिक्की और अन्य मौजूद थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।