वर्तमान में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं : दहिया

Kharkhoda News
वर्तमान में महिलाएं किसी भी क्षेत्र में कम नहीं : दहिया

खरखौदा (सच कहूँ/हेमंत कुमार)। Kharkhoda News: रोहतक मार्ग पर स्थित कन्या महाविद्यालय में प्राचार्य डॉ श्री वीरेंद्र दहिया जी की अध्यक्षता में महिला प्रकोष्ठ द्वारा उच्चतर शिक्षा निदेशालय के आदेश अनुसार हरियाणा प्रदेश की सफलता की कहानी और अच्छी प्रथाओं विषय पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। महिला प्रकोष्ठ प्रभारी डॉ प्रमिला ने मंच संचालन करते हुए सबसे पहले प्राचार्य ,स्टाफ सदस्यों और छात्राओं का कार्यक्रम में पहुंचने पर स्वागत किया।

महिला प्रकोष्ठ की प्रभारी प्रमिला ने कहा कि हरियाणा प्रदेश में महिलाओं के सर्वांगीण विकास के लिए शिक्षा, खेल व स्वास्थ्य से संबंधित अनेक योजनाएं हैं जिनके विषय में महिलाओं व छात्राओं को जागरूक होना चाहिए। ताकि वह इससे लाभान्वित हो सके। उन्होंने कहा कि महिलाएं किसी भी क्षेत्र में अब पीछे नहीं है , उनको आगे बढ़ाने व उनको रोजगार के अवसर प्रदान करने या स्वावलंबी बनाने ,खेलों में उनको बढ़ावा देने व महिलाओं की सुरक्षा से संबंधित अनेक योजनाएं लागू की गई हैं। जैसे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, सुकन्या समृद्धि योजना, 33 परसेंट आरक्षण देने संबंधी नियम महिला

समृद्धि योजना, महिला हेल्पलाइन की सुविधा, डायल112 एप की सुविधा, कामकाजी महिलाओं के लिए हरियाणा क्रेच पालना की सुविधा, इसके साथ-साथ खेल नर्सरी योजना शुरू, विभिन्न खेलों में स्वर्ण, रजत व कांस्य पदक प्राप्त करने वाले खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि को बढ़ाना, विभिन्न पदों पर मेडल के आधार पर नौकरियां प्रदान करने खिलाड़ियों और खेल पर शिक्षकों को द्रोणाचार्य अवार्ड, अर्जुन अवार्ड जैसे पुरस्कारों की राशि को बढ़ाकर खिलाड़ियों को प्रोत्साहित किया है प्राचार्य डॉ वीरेंद्र दहिया ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि उद्यमिता, स्वरोजगार व अपने सीमित साधनों

के माध्यम से कठिन परिस्थितियों में भी कठोर परिश्रम कर किसी मुकाम पर पहुंचने वाले ऐसे सफलतम व्यक्तियों के बारे में भी चर्चा कर छात्राओं को जागरूक होना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिक्षा साहित्य खेलों में भी महिलाओं की भागीदारी को और ज्यादा सुदृढ़ करने के लिए उन्हें विभिन्न प्रकार के पुरस्कार और सम्मान व अच्छी पुरस्कार राशि प्रदान की जाती है । इन पुरस्कारों में सुषमा स्वराज पुरस्कार, इंदिरा गांधी महिला शक्ति पुरस्कार, कल्पना चावला शौर्य पुरस्कार , बहन सन् नो देवी पुरस्कार आदि सम्मिलित हैं जो महिलाओं के उज्जवल भविष्य को ध्यान में रखते हुए और उनके इन क्षेत्रों में भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए लागू किए गए हैं। इस मौके पर डॉ नमिता ,डॉ विजयदीप, डॉ रमेश सैनी , ममता आदि स्टाफ सदस्य उपस्थित रहे कार्यक्रम में 65 छात्राओं ने हिस्सा लिया l Kharkhoda News

यह भी पढ़ें:– थाना समाधान दिवस में पहुंची दो शिकायतें, निस्तारण शून्य

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here