UPI Payment: यूपीआई के माध्यम से भुगतान करने पर रहे सावधान

Digital Transactions, UPI Payment

किसी गलत व्यक्ति के खाते में पैसे ट्रांसफर होने पर एनपीसीआई पोर्टल पर करें शिकायत

हिसार (सच कहूँ न्यूज)। UPI Payments: आज के समय में लोग बड़े पैमाने पर अपनी छोटी-छोटी पेमेंट भी यूपीआई के माध्यम से कर रहे हैं। यूपीआई ने लेन-देन के तरीके को पूरी तरह से बदल दिया है। यूपीआई पेमेंट का क्रेज बढ़ने से, यूपीई से होने वाले धोखाधड़ी के मामले भी सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि साइबर क्रिमिनल्स यूपीआई के जरिए कई तरह से लोगों को ठगते हैं। स्कैमर्स लोगों के यूपीआई अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करते हैं और बोलते हैं कि ये गलती से ट्रांसफर हो गए। इसके बाद लोगों से कहा जाता है कि इस पैसे को रिफंड करें। UPI Payment

यह भी पढ़ें:– Weather Update: मौसम विभाग का अलर्ट, अगले पांच दिनों तक इन राज्यों में होगी झमाझम बारिश!

इसके लिए यूपीआई का लिंक भेजा जाता है। जैसे ही इस लिंक पर आप क्लिक करते हैं, स्कैमर्स के पास फोन का कंट्रोल चला जाता है और वो डिजिटल वॉलेट और बैंक अकाउंट से पैसा उड़ा लेते हैं। साथ ही अगर आप किसी वेबसाइट पर कुछ बेच रहे हैं तो धोखेबाज बिना मोल भाव किए धोखेबाज आपको पैसे ट्रांसफर करने पर राजी हो जाएगा। आपको तुरंत एसएमएस आएगा, जिसमें लिखा होगा कि इतने पैसे आपके खाते में पहुंच गए, अप्रूव करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें। यह लिंक आपके फोन पर किसी यूपीआई ऐप का होगा। जैसे ही आप उस लिंक पर क्लिक करेंगे, आपके खाते में पैसे आने की बजाय चले जाएंगे।

क्यूआर कोड से फ्रॉड | UPI Payment

स्कैमर्स क्यूआर कोड के जरिए भी ठगी करते है। अगर आप वेबसाइट पर कुछ बेच रहे हैं तो ठग आपको एक दफ कोड भेजेगा। इस कोड को वढक ऐप से स्कैन करने के लिए कहेगा। आपको बताया जाएगा कि इसको स्कैन करते ही आपके खाते में पैसे पहुंच जाएंगे। अगर आपने उसको स्कैन करके वढक पिन डाल दिया, समझिए आपके खाते में पैसे आने के बजाय चले जाएंगे। कई बार वही ठग आपको दोबारा संपर्क करेगा और बोलेगा कि उसने गलती से दूसरा दफ कोड भेज दिया था और वो पैसे लौटना चाहता है। पैसे लौटाने के नाम पर एक और दफ कोड आएगा और अगर यहां भी आपने गलती कर दी तो दोबारा आप पैसे गवां बैठेंगे।

नकली पेमेंट रसीद से फ्रॉड

उन्होंने बताया कि अगर आप कोई सामान बेच रहे हैं, कई बार धोखेबाज नकली पेमेंट रसीद दिखा आपसे सामान भेजने को कहेगा। वह आपको एक नकली पेमेंट की रसीद जैसे एनईएफटी ट्रांसफर का स्क्रीनशॉट या बैंक के मैसेज का स्क्रीनशॉट यह कहते हुए भेजेगा की पैसे उसने ट्रांसफर कर दिए हैं। बैंक सर्वर में कोई दिक्कत होगी, थोड़ी देर में आपको पैसे मिल जाएंगे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यूपीआई फ्रॉड से बचने के लिए कुछ सावधानियां रखने की जरूरत है। अगर कोई कहता है कि उसने गलती से आपके यूपीआई अकाउंट में पैसे ट्रांसफर किए हैं, तो पहले पूरी तहकीकात करें। उस व्यक्ति की पहचान कंफर्म करें और अगर कोई लिंक आता है, तो उस पर क्लिक ना करें।

अपना यूपीआई पिन किसी को ना बताएं। इसका इस्तेमाल केवल खुद से लेन-देन करने के लिए करें। अनजान खरीददार से व्हाट्सएप या मैसेंजर पर चैट करने से बचे। ऑनलाइन कुछ भी खरीदने और बेचने में जल्दबाजी न दिखाएं। आॅनलाइन पेमेंट लेते और देते समय पूरी सावधानी बरतें। जरूरी बातों को छोड़कर कोई भी निजी या वित्तीय जानकारी शेयर न करें। साथ ही लेटेस्ट स्कैम और फ्रॉड करने के तरीकों पर नजर रखें।

गलत खाते में पैसे जाने पर तुरंत पोर्टल पर करें शिकायत | UPI Payment

पुलिस अधीक्षक मोहित हांडा ने कहा है कि यूपीआई के द्वारा गलती या जल्दबाजी में किसी अनजान या गलत व्यक्ति के खाते में पैसे ट्रांसफर होने पर परेशान न हो। सबसे पहले यूपीआई ऐप सपोर्ट पर तुरंत मैसेज करें। और साथ ही एनपीसीआई की आधिकारिक वेबसाइट पर शिकायत दर्ज करे। साथ ही अपने बैंक से संपर्क करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here