कांग्रेस को बड़ा झटका! पार्टी छोड़ने वालों की आई बाढ़!

Ashok Chavan
कांग्रेस को बड़ा झटका! पार्टी छोड़ने वालों की आई बाढ़!

मिलिंद देवड़ा, बाबा सिद्दीकी के बाद अशोक चव्हाण भी चले

नई दिल्ली। आम चुनाव और राज्य चुनावों से कुछ महीने पहले ही कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है। मानों पार्टी छोड़ने वालों की बाढ़ सी आ गई हो। इसी के तहत महाराष्ट्र में कांग्रेस को तगड़ा झटका देते हुए, पूर्व मुख्यमंत्री और पूर्व सांसद अशोक चव्हाण ने भी पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। ऐसे में वे भाजपा के साथ बातचीत कर रहे थे। सूत्रों की मानें तो वरिष्ठ नेता को राज्यसभा का टिकट मिल सकता है। Ashok Chavan

किसी अन्य पार्टी में शामिल होने के प्रश्नों के संबंध में चव्हाण ने कहा कि उन्होंने किसी अन्य पार्टी में शामिल होने पर अभी तक कोई निर्णय नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि इस बारे में मैं अगले कुछ दिनों में फैसला लूंगा। अभी तक किसी भी पार्टी से मैंने बात नहीं की है। उन्होंने बताया कि वे महा विकास अघाड़ी गठबंधन के भीतर सीट-बंटवारे को अंतिम रूप देने में देरी से परेशान थे, जबकि चुनाव में कुछ ही महीने बचे हैं। विधानसभा में भोकर का प्रतिनिधित्व करने वाले चव्हाण ने अध्यक्ष राहुल नार्वेकर से मुलाकात की और अपना इस्तीफा सौंप दिया। अगर वे भाजपा में शामिल होते हैं, तो पिछले महीने कांग्रेस नेता मिलिंद देवड़ा के पार्टी छोड़ने और एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना में शामिल होने के बाद यह महाराष्ट्र में दूसरा बड़ा बदलाव हो सकता है। Ashok Chavan

वहीं इस बारे में भाजपा नेता एवं उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस से पूछा गया कि क्या चव्हाण पार्टी में शामिल हो रहे हैं। इस संबंध में उन्होंने कहा कि उन्होंने मीडिया से अशोक चव्हाण के बारे में सुना है। लेकिन अब वे इस बारे में सिर्फ इतना कह सकते हैं कि कांग्रेस के कई अच्छे नेता भाजपा के संपर्क में हैं। जो नेता जनता से जुड़े हुए हैं और जो कांग्रेस में घुटन महसूस कर रहे हैं।

दूसरी तरफ कांग्रेस सूत्रों की मानें तो उम्मीदवारों के चयन पर राज्य पार्टी प्रमुख नाना पटोले के साथ चव्हाण के मतभेदों ने उनके पाला बदलने के फैसले में प्रमुख भूमिका निभाई होगी। महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री शंकरराव चव्हाण के बेटे, अशोक चव्हाण नांदेड़ क्षेत्र में महत्वपूर्ण प्रभाव रखते हैं और इस बदलाव से आगामी चुनावों में कांग्रेस को नुकसान हो सकता है। यह महा विकास अघाड़ी के सामने आने वाली बड़ी चुनावी चुनौती की पृष्ठभूमि में भी सामने आता है, जिसमें शिवसेना का उद्धव ठाकरे गुट, राकांपा का शरद पवार खेमा और कांग्रेस शामिल हैं। Ashok Chavan

Qatar जेल में मौत की सजा काट रहे 8 नौसैनिकों को पीएम मोदी वापसी लाए!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here