Municipal Council Chairperson Election: नगरपरिषद चेयरपर्सन चुनाव में भाजपा का भाजपा से मुकाबला

Sri Ganganagar News
सांकेतिक फोटो

Municipal Council Chairperson Election: श्रीगंगानगर (सच कहूँ न्यूज)। नगर परिषद चेयरपर्सन के चुनाव में आज दोपहर 3 बजे नाम वापसी का समय समाप्त होने से पहले तीन उम्मीदवारों के नामांकन पत्र उठाने से मुकाबला भाजपा बनाम भाजपा हो गया है। Sri Ganganagar News

भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी गगनदीपकौर के सामने बागी बबीता गौड ने ताल ठोकी

भाजपा की अधिकृत प्रत्याशी गगनदीपकौर के सामने नगर परिषद में नेता प्रतिपक्ष डा. बबीता गौड ने पार्टी से बगावत करते हुए ताल ठोकी है। इसके साथ ही पार्षदों की बड़ाबंदी भी शुरू हो गई है। गगनदीपकौर को चेयरपर्सन बनाने के लिए भाजपा विधायक जयदीप बिहाणी ऐड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं। दूसरी तरफ नेता प्रतिपक्ष डॉ बबीता गौड को अपनी पार्टी के बजाए कांग्रेस तथा निर्दलीय पार्षदों का समर्थन मिलने की उम्मीद है।

PM Kisan Yojana: किसानों को सरकार ने दी ये बड़ी खुशखबरी! अब इतने रुपए बढ़कर मिलेंगे!

आज 3 बजे नामांकन पत्र वापस लिए जाने का समय समाप्त होने से पहले कांग्रेस ने अपनी उम्मीदवार कमला बिश्नोई का पर्चा उठवा दिया। वहीं, पूर्व चेयरपर्सन करुणा चांडक खेमे की उम्मीदवार सावित्री ने भी नाम वापस ले लिया। एक अन्य उम्मीदवार सरस्वती स्वामी ने भी पर्चा उठा लिया। इस प्रकार मैदान में अब गगनदीपकौर तथा डा. बबीता गौड रह गईं है। Sri Ganganagar News

विधानसभा चुनाव में प्रतिद्वंद्वी दो धन्ना सेठ हाथ मिलाने को आतुर

बबीता गौड को वर्ष 2019 के चेयरपर्सन के चुनाव में करूणा चांडक सामने भाजपा ने उम्मीदवार बनाया था। तब वे बहुत कम अंतर से पराजित हो गई थीं। बाद में भाजपा ने उनका नेता प्रतिपक्ष का दर्जा दिया। विगत दिसंबर माह में विधानसभा का चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में हारने पर करुणा चांडक ने चेयरपर्सन पद से इस्तीफा दे दिया था। विगत 19 जनवरी को भाजपा की नई सरकार ने गगनदीपकौर को चेयरपर्सन मनोनीत किया लेकिन एक हफ्ते बाद ही 25 जनवरी को विधिवत रूप से चेयरपर्सन का चुनाव करवाने की घोषणा कर दी।

चुनाव को एक हफ्ते के लिए स्थगित भी किया गया। अब चल रही चुनाव प्रक्रिया के तहत मैदन में दो उम्मीदवार रह गए हैं। आगामी 11 फरवरी को मतदान के जरिए चेयरपर्सन का चुनाव किया जाएगा।विधायक जयदीप बिहाणी शुरू से ही गगनदीपकौर को चेयरपर्सन बनाने के लिए जोर लगाए हुए हैं। Sri Ganganagar News

उन्होंने ही गगनदीपकौर का मनोनयन करवाया था। माना जा रहा है कि भाजपा में जयदीप बिहाणी के विरोधी गुट को गगनदीपकौर का चेयरपर्सन बनाना रास नहीं आया। इसीलिए विरोधी गुट ने जोर लगाकर एक हफ्ते में ही विधिवत रूप से चेयरपर्सन का मतदान के जरिए चुनाव करवाने का एलान करवा दिया। इसके बाद से राजनीतिक चक्र बड़ी तेजी से घूम रहा है। नगर परिषद में भाजपा और कांग्रेस दोनों को ही बहुमत हासिल नहीं है। दोनों ही निर्दलीय पार्षदों पर निर्भर हैं। राजनीतिक सूत्रों के मुताबिक हाल ही हुए विधानसभा चुनाव में बेशक जयदीप बिहाणी और अशोक चांडक आमने-सामने थे। Sri Ganganagar News

अशोक चांडक की धर्मपत्नी करुणा ने जयदीप बिहाणी के सामने चुनाव लड़ा। लगभग 50 हजार वोट हासिल कर वे दूसरे स्थान पर रहीं। जयदीप बिहानी ने प्रचंड जीत हासिल की। अब अटकलें लग रही है कि चांडक परिवार भाजपा में जा सकता है। बताया जा रहा है कि अशोक चांडक ने भाजपा के शीर्ष नेताओं से संपर्क साधा है।फलस्वरुप चेयरपर्सन के चुनाव में चांडक ग्रुप के पार्षद जयदीप बिहाणी पक्ष की उम्मीदवार गगनदीपकौर का समर्थन कर सकते हैं। गगनदीपकौर को चेयरपर्सन बनाने के लिए बिहाणी और चांडक द्वारा हाथ मिला लेने की खबरें भी आ रही है।

दूसरी तरफ भाजपा नेत्री डॉ. बबीता गौड अपनी ही पार्टी में अलग-अलग पड़ते दिख रही हैं।उनके पति पूर्व पार्षद पवन गौड भी पार्षदों बाड़ेबंदी के लिए सक्रिय हो गए हैं। सूत्रों का कहना है कि कांग्रेस और निर्दलीय उम्मीदवारों ने आज अपने-अपने नामांकन पत्र एक योजना के तहत उठाए हैं। कांग्रेस और कुछ निर्दलीय पार्षद डा. बबीता गौड के समर्थन में जा सकते हैं लेकिन ज्यादातर निर्दलीय और कांग्रेस पार्षद जो कि चांडक ग्रुप में विश्वास रखते हैं, वह गगनदीपकौर के पक्ष में वोट करेंगे, ऐसी प्रबल संभावना है। इस परिदृश्य में गगनदीपकौर आगामी चेयरपर्सन बनते दिखाई दे रही है, यदि एनवक्त पर समीकरणों में कोई बदलाव नहीं हुआ तो। Sri Ganganagar News

गगनदीपकौर के चेयरपर्सन बनते ही श्रीगंगानगर की राजनीति एक नई करवट लेगी। अगर अशोक चांडक आने वाले दिनों में भाजपा में शामिल होते हैं, तो इससे जयदीप बिहानी को खतरा हो सकता है। बेशक जयदीप बिहाणी भाजपा के चुनाव चिन्ह पर विधायक बन गए हैं लेकिन अभी तक ना तो वे भाजपा को आत्मसात कर पाए हैं और ना ही भाजपा ने उन्हें अभी तक पूरी तरह से अपना समझा है। उल्लेखनीय है कि सिर्फ 10 महीने की चेयरपर्सन के लिए यह सारी राजनीतिक उथल-पुथल मची हुई है। नगर परिषद के आगामी चुनाव इसी वर्ष नवंबर-दिसंबर में होने हैं। बाड़ेबंदी में जा रहे पार्षदों की जेबों में शायद कुछ भी नहीं जाएगा, लेकिन 11 फरवरी तक हुए अपनी अच्छी खातिरदारी अवश्य करवा लेंगे। Sri Ganganagar News

Indian Railways: खबर आपके मतलब की! भिवानी-कालका-भिवानी रेल इस दिन रहेगी रद्द!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here