हरियाणा के 139 राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में पहली बार होगी सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं

Maritorious schools will open in Punjab from 9 February

तीन चरणों में मॉडल स्कूलों के प्रिंसिपल व परीक्षा नियंत्रक को परीक्षा पैटर्न संबंधी दी जा रही ट्रेनिंग

सरसा। (सच कहूँ/सुनील वर्मा) प्रदेश में बनाए गए राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों में पहली बार केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के माध्यम से दसवीं व बारहवीं कक्षा की फाइनल परीक्षाएं ली जाएगी। इसको लेकर हरियाणा स्कूल शिक्षा निदेशालय ने तैयारियां शुरू कर दी है। इसी संबंध में गुरुग्राम के पाथवेज वर्ल्ड स्कूल में प्रदेश के सभी राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के प्रिंसीपल और स्कूल के एग्जाम कंट्रोलर बैठक में हिस्सा लेंगे। बैठक में सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा पैटर्न संबंधी जानकारी विस्तार से बताई जाएगी।

बैठक तीन चरणों में हो रही है तथा तीन दिनों तक चलने वाली इस बैठक का पहला चरण बुधवार 4 जनवरी से शुरू हो गया है, जो 6 जनवरी तक चलेगा। तीनों चरणों में प्रदेश के 139 मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूलों के 278 सदस्य भाग लेंगे। सरसा में सात मॉडल संस्कृति स्कूल है, जिन्हें सीबीएसई बोर्ड से मान्यता प्राप्त है।

बता दें कि सीबीएसई बोर्ड की दसवीं व बारहवीं कक्षा की सत्र 2022-23 की परीक्षाएं 15 फरवरी से शुरू हो रही है। दसवीं की परीक्षा 21 मार्च और 12वीं की परीक्षाएं 5 अपै्रल तक चलेगी।

पहले चरण में यह जिले ले रहे ट्रेनिंग

पहले चरण की बैठक 4 जनवरी से 6 जनवरी तक हो रही है। जिसमें भिवानी, चरखीदादरी, रेवाड़ी, महेंद्रगढ़, रोहतक, झज्जर, सोनीपत, फरीदाबाद व जींद जिला के मॉडल स्कूलों के 50 प्रिंसीपल व 50 ही स्कूलों के परीक्षा कंट्रोलर भाग ले रहे है।

7 से 9 जनवरी को होगा दूसरा चरण

दूसरे चरण की बैठक 7 जनवरी से शुरू होगी। तीन दिवसीय यह बैठक 9 जनवरी को समाप्त होगी। इस बैठक में अंबाला, फतेहाबाद, हिसार, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र, पंचकुला जिलों के मॉडल स्कूलों के 50 प्रिंसीपल व 50 स्कूल के परीक्षा नियंत्रक भाग लेंगे।

अंतिम चरण में 39 प्रिंसीपल व 39 पीजीटी लेंगे भाग

बैठक का अंतिम व तीसरा चरण 10 जनवरी से 12 जनवरी तक चलेगा। इस चरण में मेवात, पलवल, पानीपत, सरसा, यमुनानगर, फरीदाबाद व गुरुग्राम जिला में स्थित मॉडल संस्कृति स्कूलों के 39 प्रिंसीपल व 39 पीजीटी शिक्षक भाग लेंगे।

प्रदेश के राजकीय मॉडल संस्कृति सीनियर सेकेंडरी स्कूलों को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की मान्यता प्राप्त है। इन स्कूलों में पहली बार सीबीएसई बोर्ड से दसवीं व बारहवीं कक्षा की परीक्षाएं हो रही है। परीक्षा के पैटर्न संबंधी जानकारी देने के लिए प्रदेश के सभी जिलों को तीन चरणों में 3-3 दिन की ट्रेनिंग देने का कार्यक्रम तय किया गया है। जिसमें परीक्षा संबंधी विस्तारपूर्वक जानकारी दी जाएगी।
                                         – डा. मुकेश कुमार, नोडल अधिकारी मॉडल स्कूल एवं जिला विज्ञान विशेषज्ञ सरसा।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here