रेलवे अंडरपास बना शहरवासियों के लिए पेरशानी का कारण, थोड़ी सी बारिश होते हो जाता जलभराव

Kaithal News
Kaithal News : रेलवे अंडरपास बना शहरवासियों के लिए पेरशानी का कारण, थोड़ी सी बारिश होते हो जाता जलभराव

कैथल (सच कहूँ/कुलदीप नैन)। Kaithal News: जींद रोड पर बनाया गया रेलवे अंडरपास मानसून के मौसम में जानलेवा बना है। इस अंडरपास पर इस समय समस्याओं का अंबार लगा है। बारिश के मौसम में जहां अंडरपास में जलभराव की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। वहीं, अंडरपास में लगाई गई लोहे की पुली टूटने से हादसों भय बना हुआ है। इस अंडरपास पर पहले लोहे की पुली न होने से राहगीरों को काफी परेशानी हो रही थी। इससे कई राहगीर और दो पहिया वाहन चालक चोटिल भी हुए थे। अब लोहे की पुली बनाई गई तो यह टूट चुकी है और पुली के सरिये निकले हुए हैं। सरिये निकलने से हर समय यहां पर हादसों का भय बना हुआ है। Kaithal News

इस समस्या का कोई समाधान न होने से राहगीरों सहित अन्य स्थानीय लोगों में रोष है। लोगों का कहना है कि मानसून के समय बारिश के पानी से बचाव के लिए यहां पर करीब पौने दो करोड़ रुपये की लागत से ऊपर छत भी डाली। इसके बावजूद तेज बारिश होने के बाद यहां पर जलभराव हो जाता है। इस समस्या का कोई भी स्थायी समाधान अभी तक नहीं हो पाया है। यदि रेलवे या लोक निर्माण विभाग की ओर से इस समस्या का जल्द ही कोई समाधान नहीं किया तो वे बड़ा फैसला लेने के लिए मजबूर होंगे। Kaithal News

बारिश होने के बाद अंडर पास में करीब दो से ढाई फीट तक जलभराव हो जाता है। यहां पहले ही सड़क में गड्ढे बने हुए हैं। बरसात के कारण गड्ढों का अनुमान ही नहीं लग पाता, जिस कारण वाहन चालक चोटिल हुए। अंडर पास के ऊपर छत भी बनी हई है, लेकिन इसके बावजूद बारिश का पानी नहीं रूक रहा है। यहां पर बनाए गए लोहे के पुल भी टूटने लगा है। लोहा बाहर आ गया है। इससे हादसों का भय बना हैं। इस पर प्रशासन को ध्यान देना चाहिए। उन्होंने बताया कि इस बारे में आरएसओ की बैठक में भी कई बार जानकारी दी गई है, लेकिन अभी तक इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।
                                                        – लाजपत सिंगला, वरिष्ठ उपप्रधान, रेल कल्याण समिति, कैथल। 

यह भी पढ़ें:– ऑनलाइन भैंस बेचने के नाम पर 61 हजार हड़पने का आरोप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here