काबुल में बम विस्फोट, 40 मरे, 1300 घायल

0
207

हताहतों में अमेरिकी मरीन कमांडो भी शामिल

काबुल (एजेंसी)। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा के बाहर हुए दो आत्मघाती विस्फोटों में 40 लोगों की मौत हो गयी तथा 1300 घायल हो गए, जिनमें से कई की हालत नाजुक है। हताहतों में अमेरिकी मरीन कमांडो भी शामिल है। अमेरिका के रक्षा मंत्रालय के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने बिना कोई आंकड़ा दिए बताया कि अमेरिका के कई सैनिक भी इस हमले में मारे गए हैं तथा कई घायल हुए हैं।

उन्होंने कहा कि हम पुष्टि कर सकते हैं कि आज काबुल हवाई अड्डा पर हुए जटिल हमलों में कई अमेरिकी सैनिक भी मारे गए हैं। कई अन्य घायल हुए हैं। हम यह भी जानते हैं कि इस जघन्य हमले में कई अफगानी भी मारे गए हैं। हमारी सहानुभूति और दुआएं इस घटना में मारे गए सभी लोगों के प्रियजनों के प्रति है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस हमले में चार अमेरिकी मरीन कमांडो मारे गए हैं तथा तीन अन्य घायल हुए हैं। अफगानिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक हवाई अड्डा के बाहर हुए संदिग्ध आत्मघाती हमले में मरने वालों की संख्या बढ़कर 40 हो गई है, जबकि 1300 लोग घायल हुए हैं।

उधर, तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने इस घटना की कड़ी निंदा की, लेकिन कहा कि विस्फोट उस क्षेत्र में हुए हैं, जिस क्षेत्र में सुरक्षा की जिम्मेदारी अमेरिकी सेना के पास है। इस्लामिक अमीरात अपने लोगों की सुरक्षा पर पूरा ध्यान दे रहा है और बुरी घटनाओं को सख्ती से रोका जाएगा।

इस घटना के दूर से लिए गए एक वीडियो में आसमान में रोशनी तथा धुएं के गुब्बार उठते हुए दिखाई दे रहे हैं। अमेरिका के रक्षा मंत्रालय के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने बताया कि एक विस्फोट हवाई अड्डा के अब्बे गेट पर हुआ, जबकि दूसरा विस्फोट बैरोन होटल के पास हुआ। उन्होंने कहा कि पहला विस्फोट एक जटिल हमला था, जिसमें कई अमेरिकी नागरिक तथा अन्य लोग हताहत हुए हैं।

इस्लामिक स्टेट ने ली काबुल में हुए हमले की जिम्मेदारी

आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट ने अफगानिस्तान की राजधानी काबुल स्थित हवाई अड्डा के पास हुए हमले क जिम्मेदारी ली है। जिहादी समूह ने अपने टेलीग्राम अकाउंट पर कहा कि इस हमले को उसने अंजाम दिया है। आईएसआईएस ने आत्मघाती हमलावर की पहचान अब्दुलरहमान अल-लोगरी के तौर पर की है और कहा है कि जब उसने आत्मघाती जैकेट में विस्फोट किया तो वह अमेरिकी सैनिकों से पांच मीटर से भी कम दूरी पर था।

हमले के जिम्मेदारों को कड़ा परिणाम भुगतना पड़ेगा : अमेरिका

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने शुक्रवार को कहा कि काबुल हवाई अड्डे पर हमला करने वाले आतंकवादियों को पकड़ा जायेगा। बाइडेन ने हमले के लिए जिम्मेदार लोगों को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि हम उनका शिकार करेंगे और उन्हें इसका परिणाम भुगताना होगा। बता दें कि इन हमलों में अमेरिका के 13 जवानों की जान गई है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।