मदरसा प्रबंधक के तीन हत्यारों को आजीवन कठोर कारावास

Kairana News
नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को दस वर्ष की कठोर कैद

वर्ष-2020 में चंदे के रुपये लूटने के इरादे से मदरसे के दो शिक्षकों समेत तीन लोगों ने दिया था जघन्य हत्याकांड को अंजाम | Kairana News

  • कैराना में स्थित जिला एवं सत्र न्यायाधीश अनिल कुमार की अदालत ने सुनाया फैसला

कैराना (सच कहूँ न्यूज)। Kairana News: चंदे की रुकम लूटने के उद्देश्य से मदरसा प्रबंधक की ईंटो से कूचकर हत्या करने एवं शव को जलाकर यमुना में डालने के मामले में कोर्ट ने आरोप साबित होने पर तीन आरोपियों को आजीवन कठोर कारावास व एक लाख, 85 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई है। जघन्य हत्याकांड को अंजाम देने में मदरसे के दो शिक्षक भी शामिल थे। जिला शासकीय अधिवक्ता(क्राइम) संजय चौहान, सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता अशोक कुमार पुण्डीर व वादी के अधिवक्ता चौधरी कुर्बान एडवोकेट ने बताया कि 23 अप्रैल 2020 को हबीबुर्रहमान पुत्र अब्दुल जब्बार निवासी नूरबस्ती ने कैराना कोतवाली पर अभियोग पंजीकृत कराया था। Kairana News

बताया कि उसका पुत्र जामिया मिल्लिया उदललिल मदरसा मवी काकौर में प्रबंधक था। 16 अप्रैल 2020 को मदरसे के शिक्षक अब्दुल्ला पुत्र सईद निवासी मोहल्ला खैलकलां कस्बा कांधला व तौसीफ पुत्र मोहसीन निवासी खुजनावर जिला सहारनपुर ने वाजिद पुत्र निजामुद्दीन निवासी मोहल्ला खैलकलां कस्बा कैराना के साथ मिलकर चंदे की रुकम लूटने के उद्देश्य से उसके पुत्र की ईंटों से कूचकर हत्या कर दी। आरोपी वाजिद मदरसे के शिक्षक अब्दुल्ला का रिश्तेदार है। आरोपियों ने उसके पुत्र के शव को जलाकर तथा बोरे में भरकर यमुना में डाल दिया था। आरोपियों की निशानदेही पर पुलिस ने मृतक का शव, लूटे गए 90 हजार की विदेशी मुद्रा व 50 हजार भारतीय रुपये, मोटरसाइकिल, पासपोर्ट आदि बरामद किये थे। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। Kairana News

विवेचक ने मामले की तफ्तीश करके आरोप-पत्र कोर्ट में दाखिल किया था। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से सात गवाह न्यायालय के समक्ष पेश किए गए थे। यह मामला कैराना स्थित जिला एवं सत्र न्यायाधीश अनिल कुमार की अदालत में विचाराधीन था। सोमवार को कोर्ट ने दोनों पक्षों के वरिष्ठ अधिवक्ताओं के तर्क-वितर्क सुनने एवं पत्रावलियों का अवलोकन करने के पश्चात आरोपी अब्दुल्ला, तौसीफ व वाजिद को कठोर आजीवन कारावास व एक लाख, 85 हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई, जिनमें से आधी रकम मृतक के पिता को देने का आदेश दिया। अर्थदंड अदा न करने पर कोर्ट ने छह माह का अतिरिक्त कारावास भुगतने के आदेश दिए है। Kairana News

यह भी पढ़ें:– Yamuna Expressway Accident: यमुना एक्सप्रेस-वे पर आग से जिंदा जले पांच दोस्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here