एम.एस.जी हैल्थ टिप्स : माइग्रेन से संबंधित टिप्स

0
243
stress

सदा खुश रहो जैसे 10-10 पर टिकी घड़ी की सुईयां मुस्कुराते हुए सकारात्मक चेहरे को दर्शाती है। मिलनसार बनो। ज्यादा रिर्जव मत बनो। बेवजह चिंता करने से मुश्किलें कम नहीं होंगी बल्कि यह आपके सोचने की शक्ति कम करके आपको तनाव की तरफ ले जाएगी।
-पूज्य गुरू संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां।

माईग्रेन एक प्रकार का सिरदर्द है, जिसके कारण कई घंटों तक सिरदर्द बना रहता है। माईग्रेन दिमाग में रसायनों के असंतुलन के कारण होता है। मौसम में बदलाव से भी माईग्रेन हो सकता है। कभी-कभी ये दर्द अचानक शुरू होता है और अपने आप ठीक भी हो जाता है। माईग्रेन होने पर तनाव, बैचेनी और थकान होती है। माईग्रेन उम्र के किसी भी पड़ाव में हो सकता है।

मालिश व लेप :- (migraine)

  • अगर माइग्रेन हो तो सबसे पहले हल्के हाथों से मालिश करनी चाहिए। हाथों के स्पर्श से मिलने वाला आराम किसी भी दवा से ज्यादा असर करता है। सिरदर्द होने पर कंधों और गर्दन की मालिश भी करनी चाहिए, इससे दर्द से राहत मिलती है।
  •  एक तौलिये को गर्म पानी में भिगोकर, उस गर्म तौलिये से दर्द वाले हिस्से की सिकाई कीजिए। कुछ लोगों को इसी तरह ठंडे पानी से की गई मालिश से भी आराम मिलता है। माइग्रेन में बर्फ के टुकड़े का भी प्रयोग किया जा सकता है।
  •  माईगे्रन में दर्द होने पर कपूर को भी घी में मिलाकर सिर पर हल्के हाथों से कुछ देर तक मालिश कीजिए।
  •  नींबू के छिलके को पीसकर, इसका लेप माथे पर लगाने से माईगे्रन में होने वाले सिरदर्द से राहत मिलती है और माईगे्रन ठीक होता है।
  • माइग्रेन में सिरदर्द होने पर धीमी आवाज में संगीत सुनना बहुत फायदेमंद होता है। दर्द से राहत पाने के लिए बंद कमरे में धीमी आवाज में अपने पंसदीदा संगीत को सुनिए, सिरदर्द कम होगा और आपको राहत मिलेगी।
  •  अधिक पानी पीना चाहिए।
  •  पर्याप्त नींद लें। अधूरी नींद या ज्यादा सोने से भी माईगे्रन बढ़ सकता है।
  •  गलत तरीके से उठने-बैठने या सोने से आप की पीठ, गर्दन या सिर से जुड़ी नाड़ियों में दवाब के कारण भी माईगे्रन का दर्द बढ़ सकता है। हमेशा काम करते वक्त व बैठते वक्त शरीर को पोश्चर सही रखें।
  •  संतुलित आहार लें व ज्यादा समय तक भूखे पेट ना रहें।
  •  हर रोज कम से कम 30 मिनट व्यायाम करें।
  •  तेज धूप में बाहर न आएं।
  •  तेज रोशनी की तरफ न देखें। गर्मी के दिनों में बाहर जाते वक्त टोपी या छाते का इस्तेमाल करें।
  •  ज्यादा समय तक कम्पयूटर व मोबाईल पर काम करने या गेम खेलने से बचें।
  •  ज्यादा नजदीक से टीवी या कम्प्यूटर ना देखें।
  •  कम रोशनी या धुंधली जगह पर काम ना करें।
  • माइग्रेन में माथे पर विक्स लगाएं, फिर तौलिए से ढककर भाप लें। इससे आराम मिलता है।
  •  तेज गंध वाली जगह पर ना जाएं। तेज गंध वाले इत्र व डि- आडोरेंट ना लगाएं।
  •  तनाव मुक्त रहने की कोशिश करें। योग, प्राणायाम व रूहानी भजन सुनकर मन को शांत रखने की आदत डालें। सदा खुश रहें।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।