मानसून सत्र: विनय विश्वम और मनोज झा ने दिया कार्यस्थगन के प्रस्ताव का नोटिस

0
208
Monsoon Session

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता विनय विश्वम और राष्ट्रीय जनता दल के नेता मनोज झा ने राज्यसभा में नियम 267 के तहत कार्यस्थगन के प्रस्ताव का नोटिस दिया है। संसद का मानसून सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है और इन दोनों नेताओं ने सभापति को पत्र लिखकर नियम 267 के तहत कार्यस्थगन के प्रस्ताव का नोटिस दिया है। विश्वम और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कुछ लोगों के फोन टेप किए जाने से संबंधित रिपोर्टों के मुद्दे पर तथा झा ने कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान लोगों की मौत से संबंधित आंकड़ों में गड़बड़ी के मुद्दे पर चर्चा कराने के लिए कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया है।

महंगाई, किसान, बेरोजगारी पर संसद में सरकार को घेरेंगा विपक्ष

विपक्षी दल किसानों के आंदोलन, महंगाई, बेरोजगारी, पेट्रोल डीजल के दाम, कोरोना महामारी के संकट को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने के लिए तैयार है और कोई ढील नहीं दी जाएगी। कल हुई सर्वदलीय बैठक में विपक्ष के मुद्दों के बारे में पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं शिरोमणि अकाली दल की श्रीमती हरसिमरत कौर बादल, राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हनुमान बेनीवाल ने कहा कि उन्होंने 13 माह से जारी किसानों के आंदोलन के मुद्दे को उठाने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा कि आंदोलन में 500 से अधिक किसानों का बलिदान हुआ है। बेनीवाल ने कहा कि हमने सरकार से अपील की है कि वह बड़ा मन रख कर इस पर बात करें और तीनों कृषि कानूनों को रद्द करें। इस मुद्दे पर सरकार को अलग समय निर्धारित करके चर्चा करानी चाहिए। इस सुझाव पर सरकार की ओर से प्रतिक्रिया के बारे में पूछे जाने पर बेनीवाल ने कहा कि सरकार ने कोई आश्वासन नहीं दिया और किसानों का नाम तक नहीं लिया।

छाता लेकर प्रधानमंत्री पहुंचे संसद, बोले- सरकार हर तीखे सवाल का जवाब देगी

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।