अब 112 डायल करते ही पहुंचेगी पुलिस

Dial 112

हनुमानगढ़ पुलिस के बेड़े में शामिल हुए 10 फर्स्ट रिस्पॉन्स व्हीकल

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। हनुमानगढ़ जिले के निवासियों के लिए अब किसी भी प्रकार की घटना की सूचना देने के लिए मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ेगा। अब कुछ मिनटों में ही पुलिस मौके पर पहुंच सकेगी, क्योंकि राजस्थान पुलिस मुख्यालय की ओर हनुमानगढ़ जिला पुलिस को 10 आधुनिक एफआरवी (पहली प्रतिक्रिया गाड़ी) उपलब्ध करवाई गई हैं। एफआरवी यानि फर्स्ट रिस्पॉन्स व्हीकल के माध्यम से, किसी भी संकट की स्थिति में 112 नम्बर को डायल करने पर पुलिस मौके पर त्वरित सहायता के लिए पहुंच सकेगी। Hanumangarh News

इन सभी वाहनों को आधुनिक मोबाइल डाटा टर्मिनल (एमडीटी), कैमरा, एनवीआर, वायरलेस सेट जीपीएस पब्लिक एड्रेस सिस्टम, फस्र्ट एड बॉक्स, स्ट्रेचर, हेलमेट एवं अन्य आपातकालीन उपकरणों से युक्त किया गया है। उक्त वाहन अभय कमाण्ड सेंटर में स्थित ईआरएस डायल 112 से जुड़े रहेंगे तथा इनकी वास्तविक लोकेशन को ट्रैक किया जा सकेगा। कमाण्ड कंट्रोल सेंटर को डायल 112 पर प्राप्त सभी कॉल पर आमजन को आपातकालीन स्थिति में नजदीकी एफआरवी को भेजकर त्वरित गति से सहायता उपलब्ध कराई जा सकेगी तथा अपराधों की बेहतर रोकथाम हो सकेगी।

डायल 112 को जोड़ते हुए मोबाइल पुलिस यूनिट का गठन

इन गाडिय़ों की मॉनिटरिंग जिला मुख्यालय के अभय कमाण्ड सेंटर से की जाएगी। इसके साथ ही, कमाएड सेंटर के अधिकारी इन गाडिय़ों की पूरी स्थिति का पर्यवेक्षण भी कर सकेंगे। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बनवारी लाल मीणा ने बताया कि बजट घोषणा में 108 एम्बुलेंस की तर्ज पर अभय कमाण्ड सेंटर एवं डायल 112 को जोड़ते हुए मोबाइल पुलिस यूनिट का गठन किया गया है। इसके तहत हनुमानगढ़ जिले को 10 बोलेरो गाडिय़ां बरामद हुई हैं। अभय कमाण्ड सेंटर के निर्देशन में काम करने वाली इन गाडिय़ों में जीपीएस व कैमरे लगे हुए हैं। दुर्घटना होने पर इस गाड़ी में प्राथमिक उपचार, स्ट्रेचर आदि की सुविधा उपलब्ध है। Hanumangarh News

तुरंत मौके पर पहुंचना इस गाड़ी का लक्ष्य | Hanumangarh News

घायल को अस्पताल भी पहुंचाने का काम यह गाड़ी करेगी। एक गाड़ी में चालक के अलावा पुलिस थाना से तीन का स्टाफ रहेगा जो 24 घंटे तीन शिफ्ट में काम करेगा। जिले के बड़े थानों को एक-एक गाड़ी उपलब्ध करवाई गई है। इस गाड़ी में शामिल स्टाफ 24 घंटे काम करेगा। किसी भी तरह की शिकायत आने पर यह गाड़ी दो मिनट में मौके पर पहुंचेगी और मौके की स्थिति के बारे में कंट्रोल रूम और अभय कमाण्ड सेंटर को सूचित करेगी। अगर पुलिस स्टाफ को मौके की स्थिति के अनुसार यह लगेगा कि परिवाद दर्ज करना है तो परिवाद दर्ज करवाया जाएगा।

अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति पकड़ा जाता है तो उसे संबंधित थानों की पुलिस को सुपुर्द किया जाएगा। एएसपी मीणा के अनुसार पुलिस को इन बोलेरो गाडिय़ों के रूप में अतिरिक्त वाहन उपलब्ध हो गए हैं। अतिरिक्त वाहन उपलब्ध होने पर किसी शिकायत पर तुरंत घटनास्थल पर पहुंचने में पुलिस को आसानी होगी। सूचना मिलने पर दो मिनट में इस गाड़ी को मौके के लिए रवाना होना होगा। तात्कालिक समस्या सामने पर तुरंत मौके पर पहुंचना इस गाड़ी का लक्ष्य होगा। इससे समस्याओं का निस्तारण करने में काफी सुविधा मिलेगी। Hanumangarh News

यह भी पढ़ें:– राजस्थान में अब तक इतनी महिलाएं पहुंची विधानसभा