अब हरियाणा के लोगों को खाने को मिलेगा थाईलैंड का ड्रैगन फू्रट

0
506
Dragon Fruit of Thailand

 सब-ट्रॉपिकल सैंटर लाडवा में शुरू हुआ ड्रैगन फ्रूट का उत्पादन

(Dragon Fruit of Thailand)

  •  कु रुक्षेत्र के किसान ने भी शुरू की ड्रैगन फू्र ट की खेती

सच कहूँ/देवीलाल बारना कुरुक्षेत्र। हरियाणा के लोगों को अब थाईलैंड का ड्रैगन फू्रट भी खाने को मिलेगा। इस ड्रैगन फ्रूट को लाडवा के सब-ट्रॉपिकल सैंटर में लगाया गया है और ड्रैगन फ्रूट के पौधों पर फूल आने के साथ-साथ फल भी पकना शुरू हो गया है। अहम पहलु यह है कि कोरोना जैसी महामारी से बचाव में ड्रैगन फ्रूट कारगार सिद्घ हो सकता है। इस ड्रैगन फू्रट में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इस ड्रैगन फ्रूट को काफी पसंद किया जा रहा है और इस ड्रैगन फू्रट को देखने और जानकारी लेने वाले किसानों का तांता भी लगा रहता है।

सब-ट्रॉपिकल सैंटर लाडवा में फरवरी 2020 में ड्रैगन फ्रूट के बाग को लगाना शुरू किया। इस बाग के लिए करीब एक एकड़ भूमि पर ड्रैगन फ्रूट की 2 किस्में लगाई गई है। इसमें वाईट फलैस्ट के 324 और रैड फलैस्ट के 216 सहित कुल 540 पौधे लगाए गए और प्रत्येक पौधे में 15 फीट गुणा 7 फीट के फैसले पर लगाएं गए है। इन पौधों को लोहे के पीलर और टायर की स्पोट दी जाती है क्योंकि इसका तना नहीं होता और इसकी आकृति कैक्टस के पौधे की तरह होती है। इस सैंटर में इसकी सिचांई भी ड्रिप सिंचाई के जरिए की जा रही है।

  • इस एक पौधे की कीमत महज 50 रुपए है और 1 साल के बाद ड्रैगन फ्रूट पर फूल आने शुरू हो जाते है।
  • इसके फूल के 35 दिन के समय के बाद फल पक जाता है।
  • इस एक फल की कीमत मार्किट में 120 रुपए से 130 रुपए की होती है
  • इसकी मार्किट फिलहाल दिल्ली, फरीदाबाद और सुपर मॉल में ज्यादा है।

ड्रैगन फू्रट को देखकर आश्चर्यचकित हुए लोग

लाडवा में आयोजित आम उत्सव में प्रगतिशील किसान द्वारा प्रदर्शनी में ड्रैगन फूट को रखा गया। इस फ्रूट को देखकर लोग व किसान आश्चर्यचकित रह गए क्योंकि यह फल देखने में सुदंर भी लगता है। इस फल की मार्केटिंग अभी दिल्ली, फरीदाबाद और सुपर मॉल में ही ज्यादा है। अब हरियाणा में भी ड्रैगन फ्रूट की खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है। इस उत्सव के दौरान किसानों को ड्रैगन फ्रूट के बाग भी दिखाए गए और विशेष विशेषज्ञों द्वारा मौके पर किसानों को ड्रैगन फू्रट की बागवानी के बारे में विस्तार से जानकारी भी दी गई। इस दौरान किसानों को जागरूक किया गया कि पानी को बचाने और फसल चक्र बनाने के लिए ड्रैगन फू्रट के बाद लाभदायक सिद्घ हो सकते है।

धर्मनगरी के दो गांवों के किसानों ने लगाया डेÑगन फू्रट

सब-ट्रॉपिकल सैंटर के संचालक उपनिदेशक डा. बिल्लू यादव ने बातचीत करते हुए कहा कि लाडवा सब ट्रॉपिकल सैंटर में फरवरी 2020 में ड्रैगन फ्रूट के 540 पौधे लगाए गए है और अब इन पौधों पर फल आना शुरू हो गया है। यह फल थाईलैंड देश का है और अब इसे हरियाणा में भी खूब लगाया जा रहा है। इतना ही नहीं कुरुक्षेत्र के चतुरभुज माजरा अजराना कलां के किसान ने इस ड्रैगन फ्रूट की खेती और नर्सरी लगाने का काम भी शुरू कर दिया है।

  • इस ड्रैगन फ्रूट की रैड और वाईट 2 विरायटी लगाई गई है
  • इस ड्रैगन फू्रट का स्वाद ज्यादा मीठा तो नहीं होता है।
  • यह फल स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है।
  • इस फल में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।