Haryana News: अब 20 किलोवाट तक के शहरी बिजली उपभोक्ता खुद बना सकेंगे अपने बिल, जानें क्या है प्रोसेस

Haryana News
Haryana News: अब 20 किलोवाट तक के शहरी बिजली उपभोक्ता खुद बना सकेंगे अपने बिल, जानें क्या है प्रोसेस

Haryana News: हिसार सच कहूँ/संदीप सिंहमार। दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम ने शहर के बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत दी है। रीडिंग दर्ज नहीं करने से संबंधित शिकायतों को खत्म करने के लिए ट्रस्ट बेस रीडिंग और बिलिंग की सुविधा शुरू की है। इसके तहत उपभोक्ता ऐप के माध्यम से अपना बिल खुद जनरेट करने के साथ उसका भुगतान भी इसी ऐप पर कर सकेंगे। फिलहाल, निगम ने इस सुविधा से हिसार शहर के 20 किलोवाट तक के घरेलू और गैर घरेलू श्रेणी के लगभग डेढ़ लाख उपभोक्ताओं को जोड़ा गया है। प्रबंध निदेशक पीसी मीणा ने बताया कि निगम ने हिसार में इस सुविधा को प्रारंभ किए जाने का निर्णय लिया है। इसके तहत हिसार सर्कल में 4 शहरी सब डिवीजनों के उपभोक्ताओं का डाटा ऑनलाइन बिलिंग के लिए स्थानीय डाटा सेंटर को भेजा जा चुका है। शुरुआत में इसे केवल शहरों के लिए शुरू किया गया है। धीरे-धीरे प्रबंधन इसे पूरे जिले में लागू करेगा। भविष्य में हिसार के 20 किलोवाट तक के 4 लाख 27 हजार 861 उपभोक्ताओं को जोड़ा जाएगा।

Turmeric For Black Hair: सिर्फ एक चुटकी पीली हल्दी से करें सफेद बालों को काला, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

नहीं करना होगा रीडर और बिजली बिल का इंतजार | Haryana News

इससे उपभोक्ताओं को रीडिंग के लिए मीटर रीडर और बिजली बिल का इंतजार नहीं करना होगा। बल्कि मोबाइल ऐप से स्वयं अपना बिल बना सकेंगे। बिजली बिल आप मासिक चाहते हैं या द्विमासिक, यह भी उपभोक्ता की मर्जी में ही रहेगा। बिल का विकल्प चुनने के लिए इस ऐप के जरिये उपभोक्ता अपने बिजली बिलों को जनरेट कर सकेंगे और इसी ऐप से ऑनलाइन भुगतान भी कर सकेंगे। बिजली निगम की इस योजना से अकेले हिसार शहर के लगभग डेढ़ लाख उपभोक्ता लाभान्वित होंगे और शहर के इन उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिलेगी।

High Cholesterol Foods: हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीज दिन में करें इन 4 चीजों का सेवन, मोम की तरह पिघलने लगेगा धमनियों में जमा बैंड कोलेस्ट्रॉल

कारगर साबित मोबाइल ऐप | Haryana News

यह मोबाइल ऐप शहर के उपभोक्ताओं की परेशानी को दूर करने के लिए कारगर साबित होने जा रही है। यह मोबाइल ऐप हरियाणा डिस्काम के हरियाणा ट्रस्ट आधारित रीडिंग के आधार पर बनाई गई है। मुख्यमंत्री के हाथों से लांच की गए इस ऐप को प्रथम चरण में पायलट आधार पर हिसार, महेंद्रगढ़, पंचकूला और करनाल शहर में शुरू किया है। फिलहाल प्रदेश के चार जिलों में यह ऐप कार्य करेगी। बाद में अन्य जिलों में भी यह सेवा शुरू करने की योजना है।

इस तरह करना होगा यह एप डाउनलोड

उपभोक्ता को गूगल प्ले स्टोर से हरियाणा ट्रस्ट बेस्ड रीडिंग एप डाउनलोड करनी होगी। इसे डाउनलोड करने के बाद इश्यू बिल पर क्लिक कर आई एक्सप्ट कर अकाउंट नंबर दर्ज करना होगा। अकाउंट नंबर दर्ज करने के बाद अपना नाम, पता, मोबाइल नंबर, खाता नंबर दर्ज करने के साथ मीटर की खपत दर्ज करनी होगी। सभी जानकारी दर्ज करने के बाद व्यू बिल पर क्लिक करना होगा। बिजली बिल बनाना उपभोक्ता के हाथ में रहेगा। इसके बाद बिल डाउनलोड होगा और फिर अगले ऑप्शन में पे-बिल पर क्लिक करके बिल का भुगतान कर सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here