Successful Story: भारतीय सेना में इस महिला ने की ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल!

Successful Story

Successful Story: भारतीय सेना में एक कुशल ट्रैप शूटर हवलदार प्रीति रजक ने सूबेदार के पद पर पदोन्नति के साथ एक ऐतिहासिक उपलब्धि (Historical Achievement) हासिल की है। उनकी पदोन्नति एक अभूतपूर्व उपलब्धि है, क्योंकि वह भारतीय सेना में यह प्रतिष्ठित रैंक हासिल करने वाली पहली महिला बन गई हैं, जो न केवल उनकी व्यक्तिगत उपलब्धि है, बल्कि सशस्त्र बलों में महिलाओं के लिए एक महत्वपूर्ण प्रगति भी है। प्रीति मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम जिले के इटारसी में एक निम्न-मध्यम वर्गीय परिवार से हैं। उनकी मां ज्योत्सना रजक एक सामाजिक कार्यकर्ता हैं, जबकि उनके पिता इटारसी में ड्राई-क्लीनिंग की दुकान चलाते हैं। उनके पिता ने उनके खेल में रुचि ली और उन्हें 2015 में मध्य प्रदेश शूटिंग अकादमी में भर्ती कराया। उन्होंने कोच इंद्रजीत से अपनी मूल बातें सीखीं। Successful Story

Indian Railways: रेलवे ला रहा ऐसी सुपर ऐप, जो एक क्लिक पर करेगी सारा काम! PNR Status, Train Tracking…

भारतीय सेना ने एक बयान में रजक की पदोन्नति को नारी शक्ति के एक असाधारण प्रदर्शन के रूप में सराहा, उनकी असाधारण प्रतिभा, समर्पण, खेल और सैन्य सेवा के क्षेत्र में योगदान को मान्यता दी। उनकी यात्रा देश भर में महत्वाकांक्षी महिला एथलीटों और सैनिकों के लिए प्रेरणा का काम करती है, जो पारंपरिक रूप से पुरुष-प्रधान क्षेत्रों में महिलाओं की अपार क्षमताओं को प्रदर्शित करती है। रजक ने ट्रैप शूटिंग में अपने उत्कृष्ट प्रदर्शन के माध्यम से अपना स्थान अर्जित करते हुए दिसंबर 2022 में सैन्य पुलिस कोर के साथ अपनी यात्रा शुरू की।

उन्होंने शूटिंग अनुशासन में हवलदार के रूप में सेना में भर्ती होने वाली पहली मेधावी खिलाड़ी के रूप में इतिहास रचा और अपने शानदार करियर की नींव रखी। एक ट्रैप शूटर के रूप में रजक का कौशल चीन के हांगझू में आयोजित 19वें एशियाई खेल 2022 में अंतरराष्ट्रीय मंच पर चमका, जहां उन्होंने ट्रैप महिला टीम स्पर्धा में रजत पदक जीता। उनके शानदार प्रदर्शन ने न केवल देश का नाम रोशन किया, बल्कि उन्हें वैश्विक मंच पर एक मजबूत एथलीट के रूप में पहचान भी मिली। Successful Story

Washing Machine Maintenance Tips : ये छोटी-छोटी गलतियां कहीं आपकी वॉशिंग मशीन को कबाड़ न बना दे!

उनकी असाधारण उपलब्धियों के सम्मान में रजक को सूबेदार के पद पर पहली आउट-आॅफ-टर्न पदोन्नति से सम्मानित किया गया। इन्फेंट्री स्कूल के कमांडेंट लेफ्टिनेंट जनरल गजेंद्र जोशी की अध्यक्षता में आयोजित पिपिंग समारोह रजक के अनुकरणीय प्रदर्शन और उनकी कला के प्रति समर्पण का जश्न मनाने का एक महत्वपूर्ण अवसर था। वर्तमान में ट्रैप महिला स्पर्धा में भारत में छठे स्थान पर रहीं, रजक ने महू में विशिष्ट आर्मी मार्क्समैनशिप यूनिट में अपने कौशल को निखारना और अपने लक्ष्य को तेज करना जारी रखा है। पेरिस ओलंपिक पर अपनी नजरें टिकाए हुए वह अपने देश और अपने खेल के प्रति दृढ़ संकल्प, लचीलेपन और अटूट प्रतिबद्धता की भावना का प्रतीक, उत्कृष्टता की खोज में दृढ़ बनी हुई है।

प्रीति रजक की असाधारण विशिष्टता नारी शक्ति की अखंड भावना का प्रमाण है, जो पारंपरिक रूप से पुरुष-प्रधान क्षेत्रों में महिलाओं के सशक्तिकरण का प्रतीक है। उनकी महान उपलब्धि युवतियों को सेना में शामिल होने के लिए आगे आने के साथ-साथ पेशेवर शूटिंग में खुद के लिए जगह बनाने के लिए प्रेरित करेगी। Successful Story

विश्व कप के पहले सेमीफाइनल में भारत जीत का प्रबल दावेदार!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here