समय पर प्रारंभ हो एमएसपी पर खरीद

Hanumangarh News
जिला कलक्टर की अध्यक्षता में हुई किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक

जिला कलक्टर की अध्यक्षता में हुई किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। जिला कलक्ट्रेट सभागार में शनिवार को जिला कलक्टर कानाराम की अध्यक्षता में विभिन्न किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की बैठक हुई। इसमें किसानों के समक्ष आ रही समस्याओं पर चर्चा हुई। बैठक में किसान प्रतिनिधियों ने मुद्दा उठाया कि विशेषकर हनुमानगढ़-श्रीगंगानगर क्षेत्र में अक्सर यह देखा जाता है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर बिकने वाली फसलों की खरीद उस समय शुरू होती है जब किसान अपनी अधिकतर फसल निजी हाथों में बेच देता है। Hanumangarh News

किसान प्रतिनिधियों ने मुद्दा उठाया कि सरकार ने जिन फसलों को एमएसपी पर खरीद की घोषणा कर रखी है, उन फसलों की खरीद एमएसपी पर होनी चाहिए। यूरिया-डीएपी के साथ अन्य उत्पाद खरीदने के लिए किसान को मजबूर न करने की मांग करते हुए कहा कि अगर यह चलता रहा तो आने वाले समय में जीएसएस फेल हो जाएंगे। इससे किसानों को काफी नुकसान होगा। किसान प्रतिनिधियों ने बताया कि एक किसान से एमएसपी पर 11 क्विंटल गेहूं व 25 क्विंटल सरसों खरीदने की पाबंदी लगाई गई है। उन्होंने इन पाबंदियों को हटाकर किसान से उसकी पूरी फसल की खरीद एमएसपी पर करने की मांग की। साथ ही एमएसपी पर समय पर फसलों की खरीद हो।

किसान प्रतिनिधियों ने बताया कि पूरे राजस्थान में हनुमानगढ़ टाउन धानमंडी ही अकेली ऐसी मंडी है जहां नरमा की कुछ खरीद हुई है। यह सब भ्रष्टाचार के कारण हो रहा है। कुछ लोगों का घटिया क्वालिटी का नरमा खरीद लिया गया। वहीं साढ़े सात हजार रुपए का नरमा पांच-साढ़े पांच हजार रुपए में बेचकर किसान जा रहा है। Hanumangarh News

किसान प्रतिनिधि रेशमसिंह ने कहा कि भाजपा सरकार ने विधानसभा चुनाव के समय वादा किया था कि हमारी सरकार आते ही पेट्रोल और डीजल के दाम कम किए जाएंगे। साथ ही आने वाली गेहूं की फसल की 2700 रुपए प्रति क्विंटल की दर से खरीद की जाएगी। लेकिन इस वादे से सरकार मुकर चुकी है। अब 2400 रुपए प्रति क्विंटल की दर से गेहूं फसल की खरीद होगी। उसमें से सवा सौ रुपए बोनस रहेगा। उन्होंने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों की इन मांगों को सरकार तक पहुंचाने की मांग जिला कलक्टर से की।

बैठक में पुलिस अधीक्षक डॉ. राजीव पचार, प्रशिक्षु आईएएस प्रीतम जाखड़, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनीता चौधरी, कृषि उपज मंडी समिति सचिव सीएल वर्मा, रामविलास चोयल, रघुवीर वर्मा सहित अन्य अधिकारी व किसान संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद रहे। Hanumangarh News

Uttarakhand: उत्तराखंड में अवैध मदरसा तोड़फोड़ को लेकर व्यापक हिंसा, 5 मरे, 5,000 के खिलाफ मामला दर्ज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here