सबा अहमद ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कैसे कटे अंधेरी सुरंग में 17 दिन

Dehradun News
सबा अहमद ने प्रधानमंत्री मोदी को बताया कैसे कटे अंधेरी सुरंग में 17 दिन

देहरादून (सच कहूँ न्यूज)। Uttarkashi Tunnel Successful Rescue: उत्तराखंड के उत्तरकाशी में सिल्क्यारा सुरंग से 17 दिन बाद सुरक्षित निकाले गए मजदूरों से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार देर रात फोन पर बात की। बिहार के मजदूर सबा अहमद ने कहा,‘हम लोग (41 मजदूर) एक भाई की तरह सुरंग में रहे। हम सब एकसाथ थे। इस बातचीत का वीडियो प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा जारी किए जाने के बाद वायरल हो गया। प्रधानमंत्री ने स्पीकर ऑन कर, रेस्क्यू किए गए इन मजदूरों में शामिल सबा अहमद (बिहार), गबर सिंह नेगी (उत्तराखंड), अखिलेश (मिजार्पुर, उत्तर प्रदेश), सोनू कुमार साह (छपरा, बिहार) से बहुत आत्मीयता से बातचीत की। सभी ने उन्हें रेस्क्यू टीम सदस्यों की सराहना के साथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की भी प्रशंसा की। Dehradun News

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमें इस घटना से बहुत प्रेरणा मिली है ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं से किस तरह निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि कभी मौका मिलेगा तो आप लोगों से मिल सकूं। मोदी ने कहा कि चूंकि आप सबके स्वास्थ्य परीक्षण के बाद बातचीत करना चाहता था, इसलिए आज ही आपसे बात किए बिना खुद को रोक नहीं पाया। इस पर, सुरक्षित निकले मजदूरों ने भारत माता की जय का उद्घोष किया तो उन्होंने कहा कि आपके इन नारों से आज पूरा देश उत्साहित होगा।

हम लोग एक भाई की तरह सुरंग में रहे, पीएम मोदी से बोले सबा अहमद

मंगलवार देर रात बचाए गए मजदूरों के साथ अपनी फोन पर बातचीत में मोदी ने कहा, ‘इतने दिनों तक खतरे में रहने के बाद सुरक्षित बाहर आने पर मैं आपको बधाई देता हूं। यह मेरे लिए खुशी की बात है। मैं इसे शब्दों में व्यक्त नहीं कर सकता। ईश्वर की कृपा है कि आप सभी सुरक्षित हैं। मोदी ने इन लोगों से कहा कि 17 दिन का कम समय नहीं है। आप सभी ने बहुत साहस दिखाया और एक-दूसरे को प्रोत्साहित किया। वह आॅपरेशन के बारे में जानकारी लेते रहते थे और लगातार मुख्यमंत्री के संपर्क में थे। मेरे पीएमओ के अधिकारी भी वहां बैठे थे। लेकिन सिर्फ सूचना मिलने से चिंता कम नहीं होती। Dehradun News

बिहार के रहने वाले युवा इंजीनियरिंग कंपनी लिमिटेड के सबा अहमद ने प्रधान मंत्री को बताया, ‘वह कई दिनों तक सुरंग में फंसे रहे, लेकिन उन्हें कोई डर या घबराहट महसूस नहीं हुई। हम भाइयों की तरह थे, हम एक साथ थे। हम रात के खाने के बाद सुरंग में टहलते थे। मैं उन्हें सुबह की सैर और योग करने के लिए कहता था। उन्होंने बताया कि जिस सुरंग में वे फंसे थे, उसके दो किमी से अधिक हिस्से में मजदूर सुबह की सैर करते थे और योग भी करते थे। हम उत्तराखंड सरकार, विशेष रूप से श्री धामी और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह को धन्यवाद देना चाहते हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी से उत्तराखंड के एक फोरमैन गब्बर सिंह नेगी ने बात की।

मोदी ने कहा कि गब्बर सिंह मैं आपको विशेष रूप से बधाई देता हूं। मुझे मुख्यमंत्री धामी रोजाना बताते थे। आप दोनों लोगों ने अच्छी लीडरशिप दिखाई है। इस पर गब्बर सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी से कहा कि आप सभी लोगों ने हौसला बढ़ाया। मुख्यमंत्री धामी लगातार हमारे संपर्क में बने रहते थे। मोदी ने दोनों कार्यकतार्ओं के नेतृत्व और साहस की भी सराहना की। साथ ही भारत के सड़क परिवहन और राजमार्ग राज्य मंत्री जनरल (सेवानिवृत्त) वी के सिंह की भी सराहना करते हुए कहा कि उन्होंने इस बार वास्तव में एक सैनिक के रूप में अपना प्रशिक्षण दिखाया है।Dehradun News

यह भी पढ़ें:– Uttarkashi Tunnel Successful Rescue…जब देवदूत बनकर आए रैट माइनर्स!