हे मालिक! प्राकृतिक आपदा, नशों और दिमागों में चल रहे तूफानों से इन्सानियत को बचाएं

Saint Dr. MSG
  • पूज्य गुरु जी ने अफगानिस्तान में भूकंप और असम में बाढ़ के चलते मारे गए लोगों की आत्मिक शांति व उनके परिजनों को दु:ख सहने का बल बख्शने के लिए की प्रार्थना
  • एडम ब्लॉक के सेवादारों की बातों पर 100 पर्सेंट अमल करना और प्रशासन का साथ देना है

बरनावा (सच कहूँ न्यूज)। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां ने बुधवार रात्रि पूरी सृष्टि के भले की दुआ करते हुए साध-संगत को अपना इलाही संदेश दिया। पूज्य गुरु जी ने ‘सैंट एमएसजी’ यूट्यूब चैनल पर लाइव साध-संगत से रूबरू होते हुए फरमाया कि आज हमने सुना कि अफगानिस्तान में भूकंप आया और आसाम में बाढ़ आई। तो सबसे पहले भगवान से यही प्रार्थना है कि हे मेरे राम! ईश्वर, अल्लाह, वाहेगुरु, गॉड, खुदा, रब्ब उन आत्माओं का जरूर भला करना, जो उस बाढ़ में बह गए हैं या भूकंप की चपेट में आ गए हैं। राम जी कृपा करना। पूरी सृष्टि पर दया, मेहर, रहमत कीजिये। इन हादसों के बारे में सुनकर बड़ा ही दर्द हुआ, बहुत दु:ख हुआ।

मालिक से प्रार्थना करते हुए यही दुआ कर सकते हैं कि वो हमेशा अपने बच्चों की रक्षा करे। आप लोग भी, साध-संगत उनके लिए प्रेयर करना, प्रार्थना करना कि मालिक उन सबको शांति दे, उनके परिवारजनों को इस दु:ख को झेलने की ताकत दे, क्योंकि बड़ा दु:ख होता है जब घर से कोई चला जाता है, इस तरह से अनजाने में एकदम से। प्यारी साध-संगत जीओ, हम तो हमेशा दुआएं करते रहते हैं राम जी से कि हे मेरे मालिक! हे मेरे ईश्वर! तू कृपा निधान है, तू नहीं करेगा तो कौन करेगा? अपने बच्चों की रक्षा जरूर करना। प्यारी साध-संगत जी आप लोग घरों में रहकर ही, जैसे आप घरों में बैठे हैं, वहीं से प्रेयर कीजिये।

पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि आपको सेवादार भाई जैसे बताएंगे, जहां तक दर्श-दीदार की बात है हमने भी आपके दर्शन करने हैं, लेकिन ध्यान ये रखना है कि एडम के सेवादार, जिम्मेदार भाई आपके पास आएंगे या वो जिन सेवादारों को भेजेंगे, जैसे वो कहें 100 पर्सेंट उन बातों पर अमल करना है, प्रशासन का साथ देना है। हम तेरा वास जो यूपी का है, वहीं से बात कर रहे हैं। बहुत-बहुत आशीर्वाद आप सबको, जो वेट कर रहे हैं। कोशिश करेंगे कि रोजाना आपके ये जो मैसेजिज आ रहे हैं, इनके द्वारा दर्शन करें।

आपजी ने फरमाया कि आप सब लोग जब खुश होते हैं तो यूं लगता है कि मेरा राम, मेरा ईश्वर खुश हो रहा है। पूरा वर्ल्ड खुश रहे, ये मालिक से दुआ है। पूरे संसार के लिए प्रार्थना करते रहते हैं, क्योंकि संतों का काम प्रार्थना करना होता है, और प्रार्थना करते ही रहना होता है। हम लगातार ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं आप सबके लिए, पूरे समाज के लिए, पूरे वर्ल्ड के लिए, इस देश के लिए जिसमें जन्म लिया है कि जो भी परेशानियां इन्सानियत में आ रही हैं, मानवता में आ रही हैं, हे मेरे शाह सतनाम! हे मेरे शाह मस्तान दाता रहबर! आपसे प्रार्थना है कि ये परेशानियां जल्द से जल्द दूर हो जाएं, शान्त हो हमारा समाज और शान्ति का वातावरण अपने आप में बहुत बड़ा स्वर्ग होता है, क्योंकि आत्मिक शांति मिलती है तो भगवान जी की तरफ आदमी के कदम बढ़ते हैं और जब समाज में शान्ति होती है तो वहां रहने वालों को, चाहे वो जीव-जन्तु है, चाहे वो सृष्टि है एक अलग ही औरा बन जाता है, एक अलग खुशियां आने लग जाती हैं। बाकी राम का नाम जपना, भगवान का नाम लेना, वो तो हम आपको हमेशा ही कहते रहते हैं।

नाम जपो और प्रेम करो

पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि बेपरवाह जी की वो दो लाइनें बार-बार ख्याल में आती हैं ‘इस जन्म में ये दो काम करो, एक नाम जपो और प्रेम करो, किसी जीव का दिल ना दुखाना कभी, मौत याद रखो मालिक से डरो’ हमेशा ये बात याद रखा करें, सबसे प्रेम करना है बेगर्ज, नि:स्वार्थ भावना से, किसी का दिल नहीं दुखाना। आपजी ने फरमाया कि हम एक और प्रार्थना अपने राम से, अपने ईश्वर से करना चाहते हैं कि हे मेरे मालिक! हे मेरे दाता! रहमत कर, कि हमारे देश में जो नशे की बाढ़ आई हुई है वो भी खत्म हो जाए। हमारे वो नौजवान बच्चे, हमारे वो परिवार, चाहे वो सत्संगी हैं, चाहे गैर सत्संगी हैं, जिनमें नौजवान नशा कर रहे हैं तो हमें बड़ा दर्द होता है, क्योंकि नशों की वजह से पूरा परिवार दु:खी रहता है। पूरे परिवार में परेशानी रहती है। इस परेशानी से निकलने का एक ही तरीका है कि जितना हो सके, उन्हें प्यार से, मोहब्बत से आप डील करें, क्योंकि उनका इलाज करवाए बिना नशा नहीं जा सकता, उनकी आदत इतनी बड़ी हो जाती है, इतनी पक जाती है कि इसे छुड़ाना बहुत मुश्किल हो जाता है।

उस नशे की बाढ़ को रोकने के लिए इसके चंगुल में फंसे युवाओं से आप भी प्यार का व्यवहार करें, उनसे बैठकर बात करें, उनको जो परेशानी है उसको दूर करने की कोशिश करें, उनकी केयर करें, तो यकीन मानिये आपका प्यार एक ऐसी मरहम लगाएगा, जो उनके नशे हैं वो जरूर दूर हो जाएंगे। बाकी राम-नाम तो नशों को दूर करता ही है। अगर आप राम का नाम जपकर घर में खाना बनाएं, अल्लाह, वाहेगुरु, गॉड, खुदा, रब्ब का नाम जपकर घर में खाना बनाएं, उस खाने से उनकी परेशानियां दूर हो जाएंगी, तो ये जरूरी है। क्योंकि अगर नौजवान नशा करता है तो उनके परिवार वालों को बड़ा दु:ख होता है और सारा परिवार दु:खी रहता है, आगे आने वाली पीढ़ी भी परेशान रहती है तो ये प्रभु से प्रार्थना है कि ये जो नशे की बाढ़ है उसको रोक दे, आज सुबह भी हमने इंस्टाग्राम पर इसी को लेकर चर्चा की थी।

मोबाइल इस्तेमाल की लिमिट रखें

आपजी ने फरमाया कि कई बार ऐसा होता है कि कुछ ऐसे तूफान भी खड़े हो रहे हैं लोगों के दिमाग में। तरह-तरह के तूफान आ रहे हैं, मैंटली डिस्टर्ब हैं बहुत सारे लोग, बिना वजह, बिना कारण से भी कई बार व्यक्ति परेशान हो जाता है, क्योंकि नेगेटिविटी ज्यादा बढ़ रही है। इसके बहुत सारे कारण हैं, जिनमें से खान-पान भी एक कारण है। अब मोबाइल को ही लीजिये, इसमें अच्छे के लिए भी बहुत कुछ है, लेकिन लगातार इसमें लगे रहना, गेमों में फंसे रहना, सारा दिन इसी में लटके रहना, फिजीकली वर्क होता नहीं तो मैंटली डिस्टर्ब। हमारा ये मानना है कि मोबाइल की जो तरंगें हैं वो भी इन्सान के दिमाग पर असर करती हैं और जैसा इसे इस्तेमाल करने वाले देखते हैं उसका असर भी जरूर होता है। हम ये नहीं कहते कि आप फोन ना चलाएं, जरूर चलाइये, लेकिन कोई समय होना चाहिये, कुछ लिमिट (सीमा) हो, जिसमें आप अपना इंटरटेनमेंट (मनोरंजन) कर पाएं।

आत्मबल को बढ़ाएं, भगवान से दुआ करते रहें

पूज्य गुरु जी ने फरमाया कि दिमागी परेशानी का हल तो ये ही है कि अपने आत्मबल को बढ़ाइये। आत्मबल को बढ़ाने के लिए अल्लाह, वाहेगुरु, राम के नाम के बिना बड़ा ही मुश्किल है कि आत्मबल बुलंदियों पर पहुंच पाए, जितना हो सके आप राम के नाम से जुड़ें और दुआएं जरूर करें। सारी साध-संगत से फिर एक बार हम कहना चाहेंगे कि ये दुआएं जरूर करें कि हे प्रभु! हे मेरे मालिक! ये जो प्राकृतिक आपदा आती है या यू कहिये कि नशा जो चल रहा है और फिर ये जो तूफान दिमागों में जिनके चल रहा है, खान-पान की वजह से, या जैसे अभी आपको कहा था मोबाइल या गेम वगैरहा देखने की वजह से और आपस में दूरी होने की वजह से दिमाग डिस्टर्ब हो रहे हैं, इनसे बचाएं।

अपने माता-पिता और दोस्तों के साथ प्रेम भाव से बात करें

आपजी ने फरमाया कि जो पास बैठा है उससे बात नहीं करते बच्चे, ये बहुत बार हमने देखा है, जो पास में नहीं है उससे चैट करते रहते हैं, जिससे चैट कर रहे हैं वो पास में आ गया तो फिर उसे छोड़ देंगे और अब जो अगला पास में नहीं है उससे चैट शुरू कर देंगे। हे बच्चो, कभी ऐसा भी करके देखिये, आपस में बैठकर चर्चा करके देखिये, माँ-बाप से बातें कीजिये, यार-दोस्तों से बातें कीजिये, फिर देखिये आपको कितना अच्छा लगेगा, आपका माइंड फ्रैश रहेगा और हो सके तो राम-अल्लाह, वाहेगुरु, गॉड, खुदा, रब्ब का नाम भी लेकर देखिये, जिससे आपके दिमाग में जो नेगेटिविटी है, वो खत्म हो जाएगी और पॉजीटिविटी जरूर आएगी। तो अब आपसे कल मिलते हैं, आपसे बात करते हैं और उतनी देर आप राम-नाम भी जपते रहें। सबको बहुत-बहुत आशीर्वाद, आशीर्वाद, मालिक खुशियां दे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here