सेंसेक्स 56 हजार के पार, निफ्टी नये शिखर पर

0
212
Sensex Rises, Domestic Stock Market

मुंबई (एजेंसी)। अधिकांश समूहों में लिवाली के बल पर शेयर बाजार प्रतिदिन नया इतिहास बना रहा है। बुधवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स शुरूआती कारोबार में ही 56 हजार अंक के स्तर को पार करते हुये 56073.31 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 77 अंकों की बढ़त के साथ 16691.95 अंक पर खुला। बीएसई का सेंसेक्स 56073.31 अंक पर खुलने के बाद तत्काल ही 55961.73 अंक के निचले स्तर तक उतरा लेकिन इसके बाद शुरू हुयी चौतरफा लिवाली के बल पर यह 56118.57 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया।

अभी यह 0.38 प्रतिशत अर्थात 214.68 अंक बढ़कर 56006.95 अंक पर कारोबार कर रहा है। एनएसई का निफ्टी शुरूआत में ही 16656.15 अंक के निचले स्तर तक उतरा लेकिन इसके बाद शुरू हुयी लिवाली के बल पर यह 16701.85 अंक के नए शिखर पर पहुंच गया। अभी यह 54.90 अंक की तुलना 0.33 प्रतिशत बढ़कर 16690.50 अंक पर कारोबार कर रहा है।

निर्यात बढ़ाने के लिए आरओडीटीईपी दरें अधिसूचित

सरकार ने निर्यात को बढ़ावा देने के उद्देश्य से निर्यात पर शुल्क एवं कर रिफंड से संबंधित आरओडीटीईपी स्कीम को अधिसूचित कर दिया है जिससे न सिर्फ निर्यातकों की तरलता की समस्या सुधरेगी बल्कि उनके उत्पाद भी प्रतिस्पर्धी होंगे। निर्यात की गयी वस्तुओं पर फ्री आॅफ बौंड मूल्य का 0.01 प्रतिशत से लेकर 4.3 प्रतिशत तक कर और शुल्क रिफंड मिलेगा।

रत्न और आभूषण जैसी वस्तुओं पर रिफंड दर 0.01 प्रतिशत होगी जबकि कमीज के कपड़े पर यह 4.3 प्रतिशत होगी। स्टील, फार्मा और रसायन जैसे क्षेत्र को इस आरओडीटीईपी स्कीम में शामिल नहीं किया गया है। चालू वित्त वर्ष में इस स्कीम के लिए सरकार ने 19400 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। वाणिज्य सचिव बी वी आर सुब्रह्मणयम ने कहा कि इस स्कीम से निर्यातकों को 19400 करोड़ रुपये मिलेंगे। यह स्कीम एक जनवरी 2021 से ही प्रभावी मानी जायेगी। इसके तहत निर्यातकों को केन्द्रीय, राज्य और स्थानीय कर एवं उपकर रिफंड किये जाने की व्यवस्था की गयी है जिससे भारतीय उत्पाद को वैश्विक बाजार में प्रतिस्पर्धी बनाने में मदद मिलेगी।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।