पिस्तौल से गोली चला वरिष्ठ सर्जन को जान से मारने की धमकी

crime
  •  चिकित्सकों में फैला रोष, तीन लाख रुपए नहीं देने पर धमकी देने का आरोप
  •  आईएमए के बैनर तले जिला पुलिस अधीक्षक से मिले चिकित्सक

हनुमानगढ़। जिला अस्पताल के पूर्व पीएमओ व सेवानिवृत्ति के बाद वर्तमान में टाउन में निजी अस्पताल में सेवाएं दे रहे वरिष्ठ सर्जन डॉ. महावीर प्रसाद शर्मा को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है। वरिष्ठ सर्जन से दूरभाष पर सम्पर्क कर तीन लाख रुपए नहीं देने पर पिस्तौल से गोली मारने की धमकी देने का आरोप लगा है। इस घटना से चिकित्सकों में रोष है। धमकी देने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की मांग को लेकर बुधवार को चिकित्सक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के बैनर तले जिला पुलिस अधीक्षक से मिले।

उन्हें मांगपत्र सौंप वरिष्ठ सर्जन के जानमाल की रक्षा करने की भी मांग की। वरिष्ठ सर्जन डॉ. महावीर प्रसाद शर्मा ने बताया कि वे टाउन में आदित्या हॉस्पिटल व एसएलजी हॉस्पिटल में सेवाएं दे रहे हैं। उनके पास आसनदास निवासी गली नम्बर 4, इन्द्रा कॉलोनी, टाउन अपनी पत्नी शीला रानी की बच्चेदानी के सम्बन्ध में दिखाने के लिए कई बार आया। उसने जांच कर शीला रानी के बच्चेदानी का आॅपरेशन करने की सलाह दी।

क्या है मामला

आसनदास व शीला रानी की ओर से आॅपरेशन करवाने के लिए कहने पर आॅपरेशन की तमाम जांच इत्यादि करवाकर 18 नवंबर 2022 को आॅपरेशन किया जाना तय किया। उसने डॉ. सविता सोनी व डॉ. जगदीश खत्री के साथ मिलकर शीला रानी का आॅपरेशन किया। तीन दिन बाद 21 नवंबर 2022 को शीला रानी को डिस्चार्ज कर दिया। आसन दास अपनी पत्नी शीला रानी को बुखार होने का कहकर दिखाने आया।

तब उसने उसे दवाई इत्यादि दे दी। पुन: जांच इत्यादि कर शीला रानी का इलाज किया परन्तु शीला रानी की तबीयत सही न होने के कारण शीला देवी का इलाज हायर सेंटर में करवाने की सलाह दी। आसनदास ने शीला रानी का श्रीगंगानगर में स्थित एसएन सुपरस्पेशलिस्ट हॉस्पिटल व जयपुर में भी इलाज करवाया। आज से 45 दिन पूर्व शीला रानी का पति आसन दास उसके के घर आया तथा उसे बताया कि शीला रानी स्वस्थ है। जयपुर व श्रीगंगानगर में इलाज करवाने के दौरान उसका तीन लाख रुपए का खर्च आया है। अब वह तीन लाख रुपए उससे लेगा। उस समय उसके हॉस्पिटल में कार्य करने वाला ओमप्रकाश भी मौके पर मौजूद था। उसने आसनदास को कोई भी राशि देने से मना कर दिया तो आसनदास उसे भला-बुरा कहते हुए वहां से चला गया। उसके बाद आसनदास उसके हॉस्पिटल में आया। तब वह बाहर गया हुआ था।

आईएमए के बैनर तले जिला पुलिस अधीक्षक से मिले चिकित्सक

तब आसनदास हॉस्पिटल में काम करने वाले ओम व विकास को धमकी देता हुआ चला गया कि तीन लाख रुपए नहीं दिए तो वह उसे जान से मार देगा। डॉ. शर्मा के अनुसार मंगलवार को आसनदास एसएलजी हॉस्पिटल आया। तब वह अपने कमरे में मरीज देख रहा था। आसनदास ने डॉ. भूपेन्द्र नारंग के पास जाकर कहा कि वह उससे तीन लाख रुपए लेगा। नहीं तो उसका बहुत बड़ा नुकसान पहुंचाएगा।

उसे जान से भी मार सकता है। डॉ. शर्मा ने बताया कि मंगलवार देर शाम करीब 7.30 बजे उसके मोबाइल नम्बर पर आसन दास ने फोन कर धमकी दी कि अगर उसने तीन लाख रुपए नहीं दिए तो वह पिस्तौल से गोली चलाकर उसे जान से मार देगा। डॉ. शर्मा ने आरोप लगाया कि आसनदास जान से मारने का भय दिखाकर उससे तीन लाख रुपए ऐंठने की धमकी दे रहा है। आईएमए जिलाध्यक्ष डॉ. भवानीसिंह ऐरन ने कहा कि वरिष्ठ चिकित्सक को धमकी देने की घटना से समस्त चिकित्सक समुदाय में रोष व्याप्त है। आईएमए इस घटना की निंदा करता है। उन्होंने आसनदास के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कानूनी कार्रवाई करने के साथ वरिष्ठ सर्जन डॉ. महावीर प्रसाद शर्मा के जानमाल की रक्षा सुनिश्चित करने की मांग एसपी से की। इस मौके पर पूर्व पीएमओ डॉ. दीपक मित्र सैनी, डॉ. सुधीर डूडी, डॉ. एसएस गेट सहित कई चिकित्सक मौजूद थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here