Farmers Protest: शंभू बॉर्डर पर हालात बिगड़े, किसानों ने तोड़े बैरिकेड, देखें वीडियो

Farmers Protest
Farmers Protest: शंभू बॉर्डर पर हालात बिगड़े, किसानों ने तोड़े बैरिकेड, देखें वीडियो

Farmers Protest: चंडीगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। केन्द्रीय मंत्रियों से वार्ता विफल होने के बाद पंजाब से हजारों किसान आज ट्रैक्टर ट्रालियों पर “दिल्ली कूच” के लिये रवाना हुये जबकि पंजाब हरियाणा शंभू सीमा पर आँसू गैस के गोले दागे जाने की खबर है। हरियाणा सरकार ने दिल्ली कूच रोकने के लिये पंजाब और दिल्ली से लगी सीमायें कांक्रीट स्लैब, कीलें और बैरिकेड लगाकर सील कर दी हैं। भारी संख्या में अर्धसैनिक बल और पुलिस की तैनाती की गयी है। ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों से निगाहबानी की जा रही है। अंबाला से होते हुये चंडीगढ़ – दिल्ली राजमार्ग बंद किया गया है और यातायात पंचकूला, बरवाला, साहा, शाहबाद, कुरूक्षेत्र के रास्ते अथवा पंचकूला, बरवाला, यमुनानगर (एनएच-344) , लाडवा, इंद्री, करनाल होते हुये मोड़ा गया है। सीमायें सील करने और यातायात मोड़ने के कारण जगह-जगह यातायात जाम लग गया है

किसानों की हर समस्या के समाधान के लिए सरकार तैयार : मुंडा | Farmers Protest

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा है कि सरकार किसानों की हर समस्या पर बातचीत करने को तैयार है। मुंडा ने मंगलवार को यहां कहा कि कृषि और किसानों की समस्याओं का समाधान सरकार की प्राथमिकता है और इसके लिए लगातार प्रयास चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ बातचीत चल रही है और सरकार हर मुद्दे पर बात करने के लिए तैयार है। केंद्रीय मंत्री ने कहा‌ कि बातचीत करने की आवश्यकता है ।सरकार किसानों के हितों की रक्षा करने के लिए बाध्य है। उन्होंने कहा कि जनता को परेशानी में नहीं डालना चाहिए और किसान संगठनों को इसे समझना चाहिए। किसान‌ नेताओं की कल देर रात केंद्रीय मंत्रियों के साथ चली बैठक बेनतीजा रही है। किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य के लिए कानूनी गारंटी के अलावा स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने, किसानों और कृषि मजदूरों के लिए पेंशन, कृषि ऋण माफ करने, पुलिस में दर्ज मामलों को वापस लेने, लखीमपुरी खीरी हिंसा के पीड़ितों के लिए न्याय, भूमि अधिग्रहण कानून 2013 बहाल करने और पिछले आंदोलन के दौरान मारे गए किसानों के परिवारों के लिए मुआवजे की मांग कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here