राजस्थान में अब तक 42 प्रतिशत वर्षा की कमी

0
286
Serious conditions like drought in 18 states

जयपुर (सच कहूँ न्यूज)। राजस्थान में इस बार मानसून के बीस दिन से भी अधिक दिनों तक कमजोर रह जाने के कारण अब तक सामान्य वर्षा से बीयालीस प्रतिशत बरसात कम हुई जिससे प्रदेश के दो दर्जन से अधिक जिलों में बारिश की कमी बनी हुई हैं। जल संसाधन विभाग के अनुसार राज्य में गत एक जून से ग्यारह जुलाई तक सामान्य वर्षा 113़ 85 मिलीमीटर की तुलना में केवल 65़ 99 मिलीमीटर बरसात हुई जो सामान्य से 42 प्रतिशत कम हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले वर्ष इस दौरान 98़ 47 मिलीमीटर बारिश हुई थी। राज्य के 26 जिलों में अजमेर, बांसवाड़ा, बारां, बाड़मेर, भरतपुर, भीलवाड़ा, दौसा, धौलपुर डूंगरपुर, गंगानगर, जयपुर, जालोर, झालावाड़ जोधपुर, करौली, कोटा, नागौर, राजसमंद, सवाईमाधोपुर, सीकर, सिरोही एवं उदयपुर में सामान्य से कम तथा अलवर, बारां, झुंझुनूं, बूंदी एवं टोंक में अल्प वर्षा हुई। इन जिलों में झुुंझुनूं जिले में सर्वाधिक 72़ 5 प्रतिशत बारिश की कमी हैं जबकि इसके बाद बूंदी में 66़ 3 प्रतिशत वर्षा की कमी बनी हुई हैं।

राज्य के छोटे बड़े 727 बांधों में 514 बांध सुखे

जैसलमेर ही एक जिला ऐसा हैं जहां अब तक सामान्य से अधिक बारिश हुई। जैसलमेर में अब तक 37़ 2 प्रतिशत सामान्य से अधिक वर्षा हुई जबकि छह जिलों बीकानेर, चित्तौड़गढ़, चुरु, हनुमानगढ़, पाली एवं प्रतापगढ़ में सामान्य बरसात हुई हैं। बरसात की कमी के चलते इस बार अब तक राज्य के छोटे बड़े 727 बांधों में 514 बांध अभी खाली पड़े हैं तथा 185 बांध आंशिक रुप से भरे हैं जबकि केवल छह बांध ही लबालब हो पाये हैं।

इनमें 22 बांधों के बारे में विभाग के पास कोई सूचना नहीं हैं। राज्य में बांधों की भराव क्षमता 12626़ 32 एमक्यूएम की तुलना में वर्तमान में 4290़ 58 एमक्यूएम पानी हैं जो भराव क्षमता का 33़ 98 प्रतिशत है। गत 15 जून को इन बांधों में 4314़ 89 एमक्यूएम पानी था जो वर्तमान भराव से अधिक था। उल्लेखनीय है कि राज्य में गत 18 जून को मानसून ने प्रवेश करने के दो दिन बाद ही कमजोर पड़ गया था।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।