वेटरनरी साइंस कोर्स की एक साथ 45 फ़ीसदी बढ़ाई फीस, विद्यार्थियों से मांगा 7 लाख एरियर

Hisar News
सांकेतिक फोटो

वीसी कार्यालय के समक्ष टेंट लगाकर धरने पर बैठे विद्यार्थी | Hisar News

हिसार (सच कहूँ/संदीप सिंहमार)। लाला लाजपत राय पशु विज्ञान विश्वविद्यालय हिसार के अधीनस्थ निजी कॉलेजों में बैचलर ऑफ़ वेटरनरी साइंस कोर्स की एक साथ 45 फ़ीसदी फीस बढ़ाने से विद्यार्थी आंदोलन पर उतर आए हैं। हिसार लाला लाजपत राय विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे इंडियन इंस्टीट्यूट आफ वेटरिनरी एजुकेशन एंड रिसर्च कॉलेज बहु अकबरपुर के विद्यार्थियों ने कहा कि नियम के अनुसार हर वर्ष 10 प्रतिशत फीस ही बढ़ाई जा सकती है। लेकिन उनके कॉलेज में विश्वविद्यालय में विभाग से अनुमति के बिना ही 45 फीसदी फीस बढ़ा दी है। इसके साथ ही पिछले साल के फीस का एरियर भी 7 लाख विद्यार्थियों से मांगा जा रहा है। Hisar News

बैचलर ऑफ़ वेटरनरी साइंस के छात्र शिवम चौधरी ने बताया कि बधाई हुई फीस व एरियर को लेकर उन्होंने हाईकोर्ट का दरवाजा भी खटखटाया है। वीसी कार्यालय के समक्ष धरने पर बैठे वेटरनरी साइंस के विद्यार्थियों का कहना है कि उनके संस्थान में उनके साथ बुरा व्यवहार किया जा रहा है। इससे पहले भी ऐसे मामले में विश्वविद्यालय के संज्ञान में आते रहे हैं। लेकिन उनकी सुनवाई नहीं की जा रही। विद्यार्थियों कहना है कि कॉलेज प्रशासन उन्हें मानसिक रूप से प्रताड़ित कर रहा है। इस संबंध में विद्यार्थियों की विश्वविद्यालय के उप कुलपति के साथ भी मीटिंग हुई। मीटिंग के बाद फीस के बारे में तो कोई निर्णय नहीं लिया जा सका। लेकिन 17 फरवरी से होने वाली परीक्षा स्थगित कर दी गई है। वहीं विद्यार्थियों की मांग है कि यदि उनके कॉलेज में उनकी परीक्षा होती है तो उन्हें प्रताड़ित किया जा सकता है। Hisar News

इसलिए विद्यार्थियों की परीक्षा विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा ही ली जानी चाहिए, ताकि उनके साथ किसी भी प्रकार का भेदभाव ना हो। विद्यार्थियों का कहना है कि धरने पर बैठने के बाद कॉलेज प्रशासन की तरफ से उन्हें लगातार धमकियां मिल रही है,जिसकी मोबाइल रिकॉर्डिंग भी उनके पास उपलब्ध है। ध्यान रहे कि इंडियन इंस्टीट्यूट आफ वेटरिनरी एजुकेशन एंड रिसर्च बहु अकबरपुर के विद्यार्थियों ने अपनी मांगों को लेकर रातों-रात वाइस चांसलर कार्यालय के समक्ष टेंट लगाकर धरना शुरू कर दिया। विद्यार्थियों को रोकने के लिए मौके पर पुलिस भी पहुंची थी।लेकिन विद्यार्थियों के विरोध के चलते पुलिस उन्हें रोक नहीं सकी और विद्यार्थियों ने अनिश्चितकालीन धरना शुरू कर दिया। पूरे मामले में अभी तक विश्वविद्यालय प्रशासन मन बना हुआ है। Hisar News

यह भी पढ़ें:– संयुक्त किसान मोर्चा के दिल्ली कूच करने के आह्वान के दृष्टिगत जिला में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए नियुक्त किए ड्यूटी मैजिस्ट्रेट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here