मंदी की गर्त में दुनिया ! विश्व बैंक की रिपोर्ट किस ओर कर रही इशारा

World Bank

इस वर्ष विकसित देशों में मंदी बढ़ने, वैश्विक आर्थिक वृद्धि गिर कर 1.7 प्रतिशत रहेगी: विश्व बैंक

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। विश्व बैंक ने इस वर्ष विकसित देशों में मंदी (World Bank) और बढ़ने तथा विश्व में आर्थिक वृद्धि मात्र 1.7 प्रतिशत रहने का अनुमान व्यक्त किया है। विश्व बैंक की सोमवार को जारी रिपोर्ट ग्लोबल इकोनामिक प्रोस्पेक्ट्स में यह छह महीना पहले के अनुमान का करीब आधा है। यदि ऐसा रहा तो यह है पिछले 30 वर्ष में 2019 और 2020 को छोड़कर विश्व अर्थव्यवस्था में सबसे कम जीडीपी वृद्धि का वर्ष होगा।

क्या कहा विश्व बैंक ने | World Bank 

रिपोर्ट में विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कहा है कि विकसित देशों में संकट गहरा हो रहा है। उन्होंने कहा है कि ताजा अनुमान बता रहे है कि स्थिति तेजी से और व्यापक रूप से बिगड़ रही है। दुनिया के करीब करीब सभी क्षेत्रों में प्रति व्यक्ति आय कोविड महामारी से पहले के दशक की तुलना में धीमी गति से बढ़ेगी क्योंकि विश्व अर्थव्यवस्था की संभावनाओं के लिए चुनौती अभी बने रहने की आसार हैं।

रिपोर्ट में कहा गया है कि 2024 के अंत में उभरते बाजारों और विकासशील देशों की अर्थव्यवस्थाओं का सकल घरेलू उत्पाद( जीडीपी )कोविड-19 महामारी के शुरू होने के पहले की तुलना में छह प्रतिशत कम रहेगा। रिपोर्ट में कहा गया है कि विकासशील देशों के सामने ऋण भार और कमजोर निवेश के कारण कई साल तक आर्थिक वृद्धि नरम रहने का खतरा है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here