Weather News : सभी हो जाओ सावधान! फिर आने वाला है एक और चक्रवाती तूफान, इन राज्यों में बारिश चेतावनी

Weather News
Weather News: सभी हो जाओ सावधान! फिर आने वाला है एक और चक्रवाती तूफान, इन राज्यों में बारिश चेतावनी

नई दिल्ली। IMD Weather Update, Cyclone: मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि भारत में एक और चक्रवाती तूफान दस्तक देने जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मौसम विभाग ने कहा कि बंगाल की दक्षिणपूर्व खाड़ी और उससे सटे दक्षिण अंडमान सागर के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र अब एक अच्छी तरह से चिह्नित कम दबाव वाले क्षेत्र में बदल गया है। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ने की उम्मीद है, जो अब धीरे-धीरे 30 नवंबर तक दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी पर एक दबाव में बदल जाएगा। इसके 2 दिसंबर के आसपास दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान ‘मिचांग’ में तब्दील होने की संभावना जताई गई है। इस मिचांग तूफान की वजह से कई राज्यों में तेज बारिश का अलर्ट है। Weather News

Haryana News: भाई ने विधवा बहन के घर लगाया नोटों का ढेर, गिनते-गिनते थक गए लोग

इन राज्यों में तूफान का हो सकता असर | Weather News

आने वाले चक्रवाती तूफान की वजह से अंडमान और निकोबार द्वीप में 29 व 30 नवंबर को हल्की से मध्यम और कई जगह भारी बारिश होगी। तटीय तमिलनाडु और पुडुचेरी में एक से तीन दिसंबर के बीच तेज बारिश होगी। इसके अलावा, तटीय आंध्र प्रदेश में दो से चार दिसंबर के बीच तूफान की वजह से ही झमाझम बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान अंडमान समुद्र और अंडमान व निकोबार द्वीप में तेज गति 25-45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने का अनुमान है।

जम्मू-कश्मीर में अगले 24 घंटों के दौरान बारिश, हिमपात के आसार | Weather News

जम्मू-कश्मीर के कई स्थानों अगले 24 घंटों के दौरान पर हल्की से मध्यम बारिश और ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात के आसार हैं। मौसम विभाग ने यह जानकारी दी। मौसम कार्यालय ने कहा कि फिलहाल ज्यादातर जगहों पर आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और बुधवार शाम तक कयी जगहों पर हल्की बारिश या हिमपात का अनुमान है। तीस नवंबर को जम्मू-कश्मीर में कयी स्थानों पर गरज और बिजली के साथ हल्की से मध्यम बारिश और मध्य और ऊंचाई वाले इलाकों में हिमपात का अनुमान है। Weather News

मौसम कार्यालय ने “पीली” चेतावनी जारी की है जिसमें कहा गया है कि अनियमित मौसम के कारण 29 दिसंबर की शाम से एक दिसंबर की दोपहर के दौरान पहाड़ी क्षेत्रों और ज़ोजिला, सिंथन दर्रा, मुगल रोड आदि जैसे महत्वपूर्ण मार्गों पर सतही परिवहन में अस्थायी व्यवधान के आसार हैं। राज्य के अधिकांश स्थानों पर रात के तापमान में गिरावट आयी, जबकि कश्मीर घाटी में मंगलवार को दिन का तापमान सामान्य से ऊपर दर्ज किया गया।

श्रीनगर में पिछली रात के 3.9 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले बुधवार को न्यूनतम तापमान 0.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और मौसम की इस अवधि के दौरान यह जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी के लिए सामान्य से 1.7 डिग्री सेल्सियस अधिक था। श्रीनगर में अधिकतम तापमान में थोड़ा सुधार हुआ और यह सामान्य 12.1 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 16.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो कि मौसम की इस अवधि के दौरान ग्रीष्मकालीन राजधानी के लिए सामान्य से 4.0 डिग्री सेल्सियस अधिक था। पहलगाम सबसे ठंडा स्थान था और एक दिन पहले दर्ज किए गए 1.2 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले यहां न्यूनतम तापमान -1.0 डिग्री सेल्सियस था और दक्षिण कश्मीर के पर्यटन स्थल के लिए यह सामान्य से 1.9 डिग्री सेल्सियस अधिक था।

श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर काजीगुंड में न्यूनतम तापमान पिछली रात के 3.8 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 0.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और कोकरंग में बुधवार को सामान्य तापमान -0.4 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। कुपवाड़ा में न्यूनतम तापमान एक दिन पहले दर्ज किए गए 3.0 डिग्री सेल्सियस के मुकाबले 1.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और यह सीमांत उत्तरी कश्मीर जिले के लिए सामान्य से 1.4 डिग्री सेल्सियस अधिक था। मौसम कार्यालय ने कहा कि उत्तरी कश्मीर के गुलमर्ग में पिछली रात के -0.2 के मुकाबले न्यूनतम तापमान -1.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और उत्तरी कश्मीर के प्रसिद्ध स्की रिसॉर्ट के लिए यह सामान्य से 1.3 डिग्री सेल्सियस अधिक था।