वाह! आधे अधूरे पार्कों का कर दिया उद्घाटन

0
210
Shaheed Chandrashekhar Azad Park

गोलमाल। अधिकारियों की नाकामी एवं ठेकेदारों की बड़ी लापरवाही

सच कहूँ/विनोद शर्मा फतेहाबाद। भूना नगर पालिका ने शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क व नेहरू पार्र्कसौंदर्यीकरण के नाम
पर लाखों रुपये के टेंडर तीन साल पहले जारी किए थे। लेकिन उपरोक्त दोनों पार्क अधिकारियों की नाकामी एवं ठेकेदारों की लापरवाही का खामियाजा भुगत रहे हैं। क्योंकि तीनों ही पार्कों का निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ है। जबकि विधायक चौधरी दुड़ाराम ने दोनों ही पार्कों का शुक्रवार को विधिवत रूप से उद्घाटन करके जन समर्पित किया था। हालांकि मौके पर नेहरू पार्क का निर्माण कार्य आधे से ज्यादा अधूरा पड़ा है। वही शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क का निर्माण लगभग 70 फीसदी हुआ है। बस स्टैंड के नजदीक शहीद भगत सिंह पार्क में सौंदर्यकरण हेतु दिवार ग्रिल आदि लगाया जाना अधूरा है।

नाम चमकाने के उद्देश्य से करवाया उद्घाटन

नगर पालिका के अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों ने अपना नाम चमकाने के उद्देश्य से आनन-फानन में बिना कार्य संपूर्ण हुए विधायक से उद्घाटन करवा लिया। जिसको लेकर शहर के लोग हंसी उड़ा रहे हैं। बता दें कि नगर पालिका जनप्रतिनिधियों का 5 वर्ष का कार्यकाल 23 जून को समाप्त हो रहा है। इसलिए आनन-फानन में चेयरपर्सन व वाइस चेयरमैन तथा कुछ पार्षदों ने पत्थर पर अपना नाम आने की चाहत से उत्तेजित होकर विधायक को भ्रम जाल में डाल दिया। जिसके चलते 18 जून को उपरोक्त पार्को को विधिवत रूप से जनता को समर्पित कर दिए है।

सौंदर्यकरण के नाम पर पार्क को तोड़ा: पवन कुमार

नेहरू पार्क निवासी पवन कुमार ने बताया नगर पालिका ने करीब 5 वर्ष पहले इस पार्क पहले लाखों रुपये खर्च करके अच्छी हालत में तैयार किया गया था। परंतु सौंदर्यकरण के नाम पर 3 साल पहले इसे तोड़ दिया गया, जो आज तक आधा भी पूरा नहीं हुआ है। विधायक द्वारा उद्घाटन किए जाने की समाचार पत्रों में न्यूज पढ़ी तो हैरानी हुई और अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों पर हंसी आ रही है।
फोटो: पवन कुमार

पिछले एक साल से कार्य बंद: डॉ. वकील

नेहरू पार्क निवासी डॉ. वकील ने बताया कि पार्क का निर्माण कार्य अभी कुछ हुआ ही नहीं है और पिछले एक साल से कार्य बंद है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि अधिकारी मौके पर कभी आए ही नहीं है। क्योंकि पार्क की चारदीवारी भी अभी आधी अधूरी है। जिस पर ग्रेनाइट पत्थर लगाए जाने के साथ-साथ स्टील की ग्रिल और फूल पौधे लगाया जाना टेंडर में है। परंतु पार्क का अधिकारिक तौर पर उद्घाटन किया जाना विधायक ग्राउंड रिपोर्ट से वाकिफ नहीं है।
फोटो: वकील

पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय हो जांच

नेहरू पार्क निवासी सुभाष चंद्र व दिलबाग सिंह ने बताया कि चार दिवारी अभी पूरी तरह से निकली नहीं है। पार्क में मिट्टी के ढेर लगे हुए हैं आवारा पशुओं का जमवाड़ा रहता है। पार्क का निर्माण अभी आधा भी नहीं हुआ। लेकिन उद्घाटन किया जाना हैरानी जनक है। पार्क का निर्माण पिछले कई महीनों से बंद पड़ा है और ठेकेदार गायब है। इस पूरे प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच होनी चाहिए।
फोटो: सुभाष व दिलबाग

घटिया ग्रेनाइट पत्थर का इस्तेमाल

शहीद चंद्रशेखर आजाद पार्क में बाउंड्रीवाल के निर्माण में पुरानी र्इंट व घटिया ग्रेनाइट पत्थर का इस्तेमाल हो रहा है। पार्क का 45 लाख रुपये की लागत से सौंदर्यीकरण होना है। ठेकेदार ने वर्ष 2019 में काम शुरू किया था। लेकिन 3 साल बीत जाने के बावजूद पार्क का निर्माण कार्य आधा भी नहीं हुआ है। वही जेड ब्लैक ग्रेनाइट पत्थर की जगह आइस ब्लू ब्लैक पत्थर का इस्तेमाल हो रहा है। जिसकी कीमत बाजार में मात्र 65 रुपये फुट प्रति फुट के हिसाब से मिल रहा है। लेकिन पार्क में उपरोक्त जेड ब्लैक ग्रेनाइट पत्थर लगाया जाना निर्धारित है। क्योंकि जेड ब्लैक ग्रेनाइट पत्थर लगाने पर ठेकेदार को लगभग 230 रुपये प्रति फुट के दाम मिलेगे। परंतु पार्क में मात्र 65 रुपये प्रति फुट का पत्थर लगाकर ठेकेदार अधिकारियों के साथ सांठगांठ करके बड़े स्तर पर सरकार को आर्थिक चुना लगा रहा है।

विधायक बोले, मैंने नहीं किया उद्घाटन

इस बारे में जब फतेहाबाद के विधायक चौधरी दुड़ाराम से बात की गई तो उन्होंने कहा कि इस संबंध में
बताया कि उन्होंने शुक्रवार को शहीद चंद्रशेखर आजाद व नेहरू पार्कों का कोई उद्घाटन नहीं किया है।

पार्कों का निर्माण जल्द पूरा करेंगे: एमई

नगर पालिका के कार्यकारी अभियंता सुमित कुमार चोपड़ा ने बताया कि उपरोक्त पार्र्कों का निर्माण कार्य जल्द ही पूरा किया जाएगा। लेकिन आधे-अधूरे निर्माण कार्य के बावजूद उद्घाटन करने के सवाल पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि इसका जवाब उद्घाटन करने वाले ही दे सकते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।