Lok Sabha Elections 2024: इस तारीख को होगा लोकसभा चुनाव का ऐलान?

Lok Sabha Elections 2024
Lok Sabha Elections 2024: इस तारीख को होगा लोकसभा चुनाव का ऐलान?

Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार चुनाव आयोग की टीमों ने सभी राज्यों में चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया जा रहा है। रिपोर्ट के अनुसार मार्च के दूसरे सप्ताह में चुनाव का ऐलान हो जाएगा। चुनाव की शुरूआत ऐलान के कम से कम 28 दिन बाद होने की संभावना जाताई जा रही है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह पूरा चुनावी कैलेंडर कमोबेश 2019 के आम चुनाव जैसा ही होगा, जब निर्वाचन आयोग ने 10 मार्च को इलेक्शन का ऐलान किया था व 24 मई को प्रक्रिया समाप्त हो गई थी।

Turmeric For Black Hair: सिर्फ एक चुटकी पीली हल्दी से करें सफेद बालों को काला, जानें इस्तेमाल करने का तरीका

देश को बचाने के लिए विपक्ष का एक होना बेहद जरूरी: मान

केन्द्र सरकार द्वारा विपक्ष शासित राज्यों के साथ किए जा रहे आर्थिक भेदभाव के खिलाफ दिल्ली में जंतर-मंतर पर कर्नाटक और केरल के मुख्यमंत्रियों के विरोध प्रदर्शन को आम आदमी पार्टी ने भी अपना समर्थन दिया है। आप पार्टी की तरफ से गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान जंतर-मंतर पहुंचे और केंद्र के खिलाफ अपनी एकजुटता दिखाई। इस दौरान श्री मान ने केरल के मुख्यमंत्री पीनराई विजयन का धन्यवाद किया और कहा कि उन्होंने देश के संविधान, लोकतंत्र और संघीय ढांचे को बचाने के लिए महत्वपूर्ण पहल की है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में केंद्र सरकार का राज्यों के साथ रवैया बेहद चिंताजनक है। अभी बजट के दिन चल रहे हैं। आज हम अपने-अपने दफ्तरों में बैठकर बजट बना रहे होते, लेकिन हमें अपना हक मांगने के लिए जंतर- मंतर पर आना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब कृषि राज्य है। राज्य के किसान हर साल 182 लाख मीट्रिक टन चावल पैदा कर कर देश को देते हैं। फिर भी केंद्र सरकार ने हमारा ग्रामीण विकास फंड (आरडीएफ) का 5500 करोड़ रोक रखा है। इस फंड का उपयोग मंडियों और मंडियों को जाने वाली सड़कों को बनाने और मरम्मत कार्यों में होता है। हमें इसके लिए सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ा है। Lok Sabha Elections 2024

High Cholesterol Foods: हाई कोलेस्ट्रॉल के मरीज दिन में करें इन 4 चीजों का सेवन, मोम की तरह पिघलने लगेगा धमनियों में जमा बैंड कोलेस्ट्रॉल

मान ने कहा कि एक तरफ केंद्र हमारे फंड रोक रखे हैं और दूसरी तरफ केंद्र द्वारा नियुक्त राज्यपाल हमें रोजाना के सरकारी कामकाज में परेशानियां उत्पन्न करते हैं। पिछली बार उन्होंने पंजाब विधानसभा सत्र को ही गैरकानूनी बता दिया था। फिर हमें सत्र को बीच में बंद करके उच्चतम न्यायालय जाना पड़ा। वहां पहली तारीख पर ही उन्हें न्यायालय ने फटकार लगाई और हमें सत्र बुलाने की मंजूरी दी। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विपक्ष में नहीं होती, वहां भाजपा के राज्यपाल विपक्ष का काम करते हैं। वह हर रोज नयी चिट्ठी सरकार को लिखते हैं। इसी तरह चंडीगढ़ में भी भाजपा ने तानाशाही की है। धक्केशाही करके हमारे 08 पार्षदों के वोट रद्द कर दिए और अपना मेयर बना लिया। सर्वोच्च न्यायालय भी भाजपा द्वारा नियुक्त पीठासीन अधिकारी का फजीर्वाड़ा देखकर हैरान रह गया। मुख्य न्यायाधीश ने स्पष्ट रूप से कहा कि चंडीगढ़ मेयर चुनाव में लोकतंत्र की हत्या हुई। Lok Sabha Elections 2024

मुख्यमंत्री ने केन्द्र सरकार पर आरोप लगाया और कहा कि कुछ केंद्रीय फंड जारी करने के लिए हमें योजनाओं से जुड़ी चीजों पर प्रधानमंत्री मोदी की फोटो लगाने को बोला जाता है। यह शर्त नहीं मानने पर फंड रीलिज नहीं किए जाते। इस अवसर पर आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने कहा कि केंद्र सरकार प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को हथियार की तरह इस्तेमाल कर रही। पहले किसी नेता पर लगे भ्रष्टाचार के आरोप साबित होने के बाद जेल होता था। अब ईडी पहले जेल भेजती है और फिर सोचती है इसपर क्या आरोप लगाए जाएं।

तेरह फरवरी तक चलेगा तेलंगाना विस का बजट सत्र

तेलंगाना में विधानसभा की व्यवसाय सलाहकार समिति (बीएसी) की बैठक में गुरुवार को बजट सत्र मंगलवार तक आयोजित करने का निर्णय लिया गया। वित्त मंत्री मल्लू भट्टी विक्रमार्क शनिवार को लेखा बजट पर वोट पेश करेंगे। वहीं, गुरुवार को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हुए बजट सत्र में शुक्रवार को धन्यवाद प्रस्ताव पारित किया जाएगा।

सदस्य सोमवार को बजट पर चर्चा करेंगे, इसके बाद मंगलवार को विनियोग विधेयक पर चर्चा होगी। यहां राज्यपाल के अभिभाषण के बाद अध्यक्ष जी प्रसाद कुमार की अध्यक्षता में बैठक हुई। मुख्यमंत्री ए रेवंत रेड्डी, भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) विधायक कादियाम श्रीहरि, आॅल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) नेता अकबरुद्दीन ओवैसी, विधायी कार्य मंत्री डी श्रीधर बाबू, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के नेता के संबाशिव राव ने भाग लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here