अमृतपाल सिंह के खिलाफ लुधियाना में एफआईआर दर्ज

लुधियाना (सच कहूँ न्यूज)। पंजाब के लुधियाना से बड़ी खबर सामने आ रही है। (amritpal singh news) बताया जा रहा है कि लुधियाना में थाना डिवीजन नंबर 5 में पुलिस ने अमृतपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज किया है। रिपोर्ट के अनुसार यह मामला पुलिस ने अमृतपाल द्वारा दिये गए हेट स्पीच पर दर्ज किया। आपको बता दें कि अमृतपाल सिंह ने कांग्रेस प्रदेश प्रधान अमरिंदर राजा वडिंग को जान से मारने की धमकी दी थी। यह मामला एसीपी डिटेक्टिव सुमित सुद की शिकायत पर दर्ज किया गया।
क्या है मामला
एसीपी डिटेक्टिव सुमित सुद ने कहा कि बुधवार शाम वह अपनी टीम के साथ भाई बाला चौक के पास मौजूद थे। निजी चैनल को अमृतपाल सिंह ने दिया था, इसी दौरान उन्हें मुखबिर से सूचना मिली कि लुधियाना के एक चैनल पर मोगा के गांव महिरो निवासी अमृतपाल महिरों ने एक इंटरव्यू दी है। जिसमें पंजाब कांग्रेस के प्रधान राजा वड़िंग की और से किए गए ट्वीट का विरोध करते हुए उसने कहा कि यह लोग तो 32 बोर और 12 बोर देख कर चिल्लाने लगे हैं। मगर जिन हथियारों को अभी दिखाया नहीं गया है, उन्हें देख लिया तो यह लोग जहर ही खा लेंगे।

‘गन कल्चर’ के खिलाफ अभियान : संगरूर में 119 शस्त्र लाइसेंस रद्द

पंजाब में ‘गन कल्चर’ के खिलाफ शुरू किये गये अभियान के तहत संगरूर में पुलिस-प्रशासन ने 119 हथियारों के लाइसेंस रद्द किये हैं। जिलाधिकारी जतिंदर जोरवाल ने बताया कि लाइसेंसी हथियारों का सत्यापन अभियान शुरू हो चुका है और शुरूआती चरण में 119 आग्नेयास्त्रों के लाइसेंस रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। उन्होंने बताया कि इन लाइसेंस धारकों को नोटिस भेजे जा रहे हैं। जिलाधिकारी ने बताया कि जिला पुलिस की ओर से ऐसे 55 ऐसे व्यक्तियों के शस्त्र लाइसेंस रद्द करने की अनुशंसा प्राप्त हुई है, जिनके खिलाफ मामले दर्ज हैं। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुरेंद्र लांबा ने बताया कि सोशल मीडिया समेत हथियारों के सार्वजनिक प्रदर्शन पर बैन की सरकार की घोषणा के बाद संगरूर जिले में सात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा लाइसेंस पर निर्धारित संख्या से अधिक हथियार रखने वालों के लाइसेंस रद्द करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है और जिले के सभी गन हाउसों में गोला-बारूद की जांच करने की प्रक्रिया भी जल्द शुरू की जाएगी। उल्लेखनीय है कि इसी माह एक सप्ताह के अंतराल पर शिवसेना नेता सुधीर सूरी और डेरा अनुयायी व धार्मिक बेअदबी के आरोपी प्रदीप सिंह की दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर हत्या के बाद राजनीतिक बवाल मचने पर आम आदमी पार्टी सरकार ने ह्यगन कल्चरह्य समाप्त करने के लिए सभी लाइसेंसी हथियारों की समीक्षा करने, तीन महीने तक नये हथियार लाइसेंस जारी करने पर रोक लगाने और हथियारों के सोशल मीडिया समेत सार्वजनिक प्रदर्शन के साथ घृणा बयानों को बैन करने की घोषणा की थी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here