रेल सेवा बगैर आर्थिक विकास की दृष्टि से पिछड़ा क्षेत्र

Hanumangarh News
रेल सेवा बगैर आर्थिक विकास की दृष्टि से पिछड़ा क्षेत्र

हनुमानगढ़ से सरदारशहर तक रेल सेवा शुरू करवाने की मांग

हनुमानगढ़ (सच कहूँ न्यूज)। हनुमानगढ़ से सरदारशहर तक रेल सेवा शुरू करवाने की मांग के संबंध में आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) हनुमानगढ़ के कार्यकर्ताओं ने उत्तर पश्चिम रेलवे बीकानेर (North Western Railway Bikaner) के अपर मंडल रेल प्रबंधक रूपेश कुमार को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। आम आदमी पार्टी के शिष्टमंडल में शामिल आप जिलाध्यक्ष सुरेंद्र बेनीवाल ने बताया कि जिला मुख्यालय हनुमानगढ़ से सरदारशहर जिला चूरू तक लगभग 160 किलोमीटर लम्बे क्षेत्र में कोई रेल सुविधा नहीं है। इस पर किसी भी केन्द्र सरकार की ओर से कोई विचार नहीं किया गया। Hanumangarh News

रेल सुविधा न होने के कारण इस क्षेत्र का आर्थिक विकास नहीं हो पा रहा। इससे यह क्षेत्र आवश्यक सुख-सुविधाओं से वंचित है। इस क्षेत्र में रेल सुविधा न होने से हनुमानगढ़, रावतसर, टिब्बी, पीलीबंगा, नोहर, सरदारशहर, श्रीगंगानगर जिले की सूरतगढ़ एवं बीकानेर जिले की लूणकरणसर तहसील के लगभग 300 से अधिक गांव प्रत्यक्ष रूप से प्रभावित हो रहे हैं। इन क्षेत्रों में यातायात के साधनों का पूर्ण अभाव है। अधिकांश क्षेत्र में केवल मात्र लिंक सडक़ ही है। ऐसे में लोगों के लिए रोजगार, घरेलू जरूरत का सामान खरीदने, सरकारी कार्यालयों में अपने कार्य करवाने एवं किसी रिश्तेदार-मित्र के यहां आने-जाने के लिए पैदल चलने के साथ निजी वाहनों से आवागमन करना पड़ता है। इससे लोगों को बहुत ज्यादा आर्थिक नुकसान हो रहा है। Hanumangarh News

इस क्षेत्र में पर्यटन की अपार सम्भावनाएं हैं

रेल सुविधा न होने के कारण इस क्षेत्र में व्यापारिक गतिविधियां भी नहीं बढ़ पा रही। न ही कोई उद्योग व रोजगार के साधन विकसित हो रहे हैं। उद्योगों का विकसित न हो पाना इस क्षेत्र के लिए किसी अभिशाप से कम नहीं है। बेनीवाल ने बताया कि यदि इस क्षेत्र में रेल सेवा विकसित होती है तो जिप्सम के भण्डार से इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ किया जा सकता है और ये क्षेत्र शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ सकता है।

इस क्षेत्र में पर्यटन की अपार सम्भावनाएं हैं। उन्होंने बताया कि इस रेल सेवा को शुरू करने के लिए 1998 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने घोषणा की थी। परंतु 25 साल से ये घोषणा घोषणा बनकर रह गई है। इस योजना पर कोई काम नहीं किया गया है। उन्होंने इस समस्या का तत्काल हल निकाले जाने की मांग की। प्रतिनिधि मंडल में खेतपाल सुथार, सुभाष बोगिया, देवेंद्र कुमार, ओमप्रकाश, राकेश कुमार शामिल थे। Hanumangarh News

RBSE 12th Result 2024 Update: विज्ञान-कृषि संकाय के आधे से ज्यादा विद्यार्थियों के 75 प्रतिशत से अधि…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here