हार्ट के मरीजों के लिए बड़ी राहत ‘टेस्टोस्टेरान थेरेपी’

0
452

ज़िंदगी बचाने में साबित हो रही मददगार

वाशिंगटन (एजेंसी)। हार्ट अटैक का नाम सुनते ही एक बारगी तो इंसान भय से भर जाता है। ज़िंदगी हर किसी को प्यारी है, इसलिए सभी इससे सचेत रहना चाहते हैं। इसी बीच एक अध्ययन में खुलासा हुआ है कि पुरुषों में पाए जाने वाले हार्मोन ‘टेस्टोस्टेरान थेरेपी’ से हार्ट अटैक के खतरों को कम किया जा सकता है।

यूरोपियन एसोसिएशन आफ यूरोलाजी कांग्रेस में प्रस्तुत शोध पत्र के अनुसार टेस्टोस्टेरान थेरेपी से सेहत के मामले में अन्य स्तर पर सुधार दर्ज किया गया है। इस थैरेपी से जहां मांसपेशियां मजबूत हुईं, वहीं वजन भी पहले की तुलना में कम दर्ज किया गया। कोलेस्ट्राल स्तर सामान्य होने के साथ-साथ लिवर भी अच्छी प्रकार से काम करने लगा। वहीं जिन लोगों का उच्च रक्तचाप की समस्या थी, उसमें भी सुधार देखा गया।

800 लोगों पर किए गए अध्ययन में ज्यादातर वो लोग शामिल थे, जो पीढ़ी-दर-पीढ़ी टेस्टोस्टेरान हार्मोन की कमी का शिकार रहे। उनमें रक्तचाप, कोलेस्ट्राल स्तर, डायबिटीज जैसी समस्या थी। इनमें से आधे लोगों को टेस्टोस्टेरान हार्मोन थेरेपी दी गई। आधे लोगों को सामान्य रूप से रखा गया।

अध्ययन करने वालों ने पाया कि जिन लोगों पर टेस्टोस्टेरान थेरेपी आजमाई गई, उनमें से 412 लोगों में तेजी से हार्ट अटैक का खतरा कम होने लगा। उच्च रक्तचाप, डायबिटीज या कोलेस्ट्राल स्तर में भी सुधार दर्ज किया गया। वहीं जिन 393 लोगों को टेस्टोस्टेरान थेरेपी नहीं दी गई थी, उनमें से 74 लोगों की मौत हो गई, 70 को हार्ट अटैक हुआ। 59 को पक्षाघात हो गया। गौरतलब है कि टेस्टोस्टेरान पुरुषों में पाए जाने वाला एक हार्मोन है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।