चिंताजनक : अबोहर के सिविल अस्पताल में मिला बांबे ब्लड ग्रुप का मरीज

0
626
Bombay Blood Group

समाज सेवी संस्थाएं व स्वास्थ्य विभाग ब्लड उपलब्ध करवाने मेंं जुटा

अबोहर (सुधीर अरोड़ा)। ‘रेयरार आफ दि रेयर’ माना जाने वाला ब्लड गु्रप बांबे ब्लडगु्रप का एक केस अबोहर क्षेत्र में भी सामने आया है। जिसे देखकर स्वास्थ्य विभाग का पूरा अमला हैरान है। गांव अमरपुरा निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति यहां के सरकारी अस्पताल में भर्ती है। जोकि शुगर से पीड़ित है व तकलीफ होने पर उसे यहां के सरकारी अस्प्ताल में भर्ती करवाया गया। जब उसका ब्लड ग्रुप किसी ग्रुप से मैच नहीं किया गया तो उसके ब्लड की जांच की गई तो बाम्बे ब्लड गु्रप पाया गया। मरीज को ब्लड उपलब्ध करवाने के लिए शहर की प्रसिद्ध समाजसेवी संस्थाएं जुट गए हैं। अस्पताल प्रभारी गगनदीप सिंह ने कहा कि मरीज को रक्त उपलब्ध करवाने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी मदद करेगा।

सैंपल चंडीगढ़ भेजा

सरकारी अस्पताल के एसएमओ डा. गगनदीप सिंह ने बताया कि जैसे ही उन्हें इस ब्लड गु्रप का मरीज मिलने की जानकारी मिली तो उन्होंने पथैलोजिस्ट डा. दीक्षी बब्बर से से विचार विमर्श किया और मरीज के रक्त की जांच करने के बाद उसके रक्त को जांच के लिए पीजीआई भेजा गया है। चंडीगढ पीजीआई की रिपोर्ट और उनकी सिफारिश से ही मरीज को यह रक्त उपलब्ध हो पाएगा। सरकारी अस्पताल के एसएमओ डा गगनदीप सिंह के अनुसार यह गु्रप बहुत कम पाया जाता है व देश में केवल इस गु्रप के 279 शख्स ही है। उन्होंने कहा कि फिलहाल दाखिल व्यक्ति की हालत नाजुक है व उसमें केवल चार ग्राम खून है।

क्या है बाम्बे ब्लड गु्रप | Bombay Blood Group

बाम्बे ब्लड गु्रप ओ पॉजिटिव रक्त समूह से एक ऐसा दुर्लभ रक्त समूह है जो लाखों लोगों में से किसी एक में पाया जाता है। इस रक्त समूह को रेयर आॅफ द रेयरेस्ट रक्त समूह भी कहते है। यह सिर्फ अपने ही ब्लड ग्रुप यानी एचएच ब्लड टाइप वालों से ही ब्लड ले सकता हैं। भारत में इस ब्लड गु्रप के 279 सदस्य हैं।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।