स्कूलों में लौटी रौनक, तिलक लगाकर किया बच्चों का स्वागत

0
391
Children returned to schools sachkahoon

सरसा (सुनील वर्मा)। हरियाणा में कोरोना काल के बाद इस सत्र में आज पहली बार स्कूलों के द्वार खुले व बच्चों की रौनक देखने को मिली। आज पहले दिन ऑफ लाइन कक्षाओं में पहुंचकर बच्चे काफी खुश नजर आए। पहले दिन स्कूलों में बच्चे दूसरे सहपाठियों को मिलकर काफी प्रसन्न नजर आए। जिला के गांव फूलकां में हाई स्कूल से अपग्रेड होकर सीनियर सैकेंडरी बनने के बाद शुक्रवार को ग्यारहवीं कक्षा में दाखिले की प्रक्रिया शुरू हुई। इस दौरान अध्यापकों ने नवआंगतुक बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत किया, वहीं श्लोकों के द्वारा सरस्वती पूजा भी की गई। समूह स्टाफ सदस्यों ने विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की कामना भी की।

गौरतलब है कि कोरोना संक्रमण के चलते कई महीनों से बंद स्कूलों में शुक्रवार को फिर से रौनक लौट आई है। 9वीं से 12 वीं कक्षा तक के बच्चे स्कूलों में पहुंचे और पढ़ाई के साथ-साथ नई कक्षाओं में प्रवेश प्रक्रिया में हिस्सा लिया। वरिष्ट शिक्षक एवं प्रेस प्रवक्ता मास्टर धर्मेन्द्र शास्त्री ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से इस वर्ष राजकीय उच्च विद्यालय फूलकां को प्रमोट करते हुए राजकीय वरिष्ट माध्यमिक विद्यालय का दर्जा दिया गया है। इस सत्र से यहां 11वीं कक्षा शुरू की जा रही है। खास बात यह भी है कि इस स्कूल में आर्ट के साथ-साथ साईंस व कॉमर्स की पढ़ाई भी करवाई जाएगी, जो ग्रामीण क्षेत्र की लड़कियों के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित होगी।

कक्षा 9वीं व दसवीं के बच्चे भी बड़ी संख्यां में पहुंचे स्कूल

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को 56 बच्चों ने प्रवेश प्रक्रिया में भाग लिया। वहीं कक्षा 9वीं व दसवीं के बच्चे भी बड़ी संख्या में स्कूल पहुंचे। इस दौरान श्लोकों का उच्चारण करते हुए सरस्वती पूजा हुई, वहीं बच्चों का तिलक लगाकर स्वागत किया गया। इस अवसर पर वरिष्ठ शिक्षक धर्मेंद्र शास्त्री, हैड मिस्ट्रेस इंदु रानी, इंद्र पाल, विनय कुमार, रमेश चन्द्र, जेपी पीटीआई, सीमा शर्मा, वंदना, कंचन, हरप्रीत कौर, लिपिक सही राम व मिडल हैड आराधना मेहता मौजूद रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।