राष्ट्रपति से मिला कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल, केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री को बर्खास्त करने की मांग

0
133

नई दिल्ली (एजेंसी)। लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा की घटना को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द से मिला। इस दौरान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ उनकी बहन और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी भी मौजूद रहीं। प्रतिनिधिमंडल ने घटना से जुड़े तथ्यों के साथ उन्हें एक ज्ञापन सौंपा।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने मुलाकात के बाद कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर हमने राष्ट्रपति से कहा कि आरोपी के पिता गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा को पद से हटाया जाना चाहिए क्योंकि उनकी मौजूदगी में निष्पक्ष जांच संभव नहीं है। इसी तरह, हमने सुप्रीम कोर्ट के दो मौजूदा जजों से भी जांच कराने की मांग की है।

इस दौरान प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि राष्ट्रपति ने हमें आश्वासन दिया है कि वह आज ही सरकार से इस मामले पर चर्चा करेंगे। इस अवसर पर राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, एके एंटनी, गुलाम नबी आजाद, लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल शामिल रहे।

क्या है मामला

तीन अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर शहर से लगभग 60 किलोमीटर दूर तिकुनिया-बनबीरपुर रोड पर जब किसान उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पैतृक गांव बनबीरपुर जाने का विरोध कर रहे थे। तब वाहनों से उन्हें कुचल दिया गया था, इस घटना में चार किसानों की दर्दनाक मौत हो गई थी। इसके बाद हिंसा में एक पत्रकार सहित चार अन्य भी मारे गए थे। इस मामले में केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा पर आरोप है कि किसानों को उसने अपनी थाप जीप से कुचला है और एसआईटी ने इस मामले को लेकर पूछताछ के बाद आशीष को गिरफ्तार किया था।

 

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।