कोरोना संकट: दिल्ली में सिर्फ तीन दिन की वैक्सीन शेष : सिसोदिया

0
232
Corona Vaccination

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने केंद्र सरकार से दिल्ली के लिए वैक्सीन की पर्याप्त आपूर्ति करने की मांग करते हुए कहा कि यहाँ 18 साल से 44 साल वालों के लिए सिर्फ़ तीन दिन के लिए वैक्सीन बची है। सिसोदिया ने सोमवार को संवाददाता सम्मेलन में केंद्र सरकार से दिल्ली के लिए वैक्सीन की पर्याप्त आपूर्ति करने और वैक्सीन आवंटन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए सभी राज्यों को आवंटित किए गए वैक्सीन के डेटा को सार्वजनिक करने की मांग भी की।

उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन की भारी कमी है। दिल्ली में 18 प्लस के लिए सिर्फ़ तीन दिन के लिए वैक्सीन बची है। अगर केंद्र सरकार इस उम्र के लोगों के लिए वैक्सीन नहीं उपलब्ध कराती है तो हमें मजबूरन सारे वैक्सिनेशन सेंटर बंद करने पड़ेंगे। केंद्र सरकार द्वारा मिली एक चिट्ठी का हवाला देते हुए उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार मई महीने में दिल्ली को 45 प्लस आयुवर्ग के लिए 3.83 लाख वैक्सीन दे रही है। लेकिन 18-44 आयुवर्ग के लोगों के लिए कोई वैक्सीन नहीं मिल रही है।

उप मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार के सामने तीन मांग रखी। पहली, कि केंद्र सरकार 18-44 आयुवर्ग के लोगों के लिए पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध कराए या कम से कम 45+ आयुवर्ग के लिए जितनी वैक्सीन दे रही है उतना 18-44 आयुवर्ग के लिए भी दे। दिल्ली सरकार उसे खरीदने के लिए तैयार है। दूसरी, भारत में जितनी भी वैक्सीन का उत्पादन हो रहा है और राज्यों को जितना आवंटन किया जा रहा है उसके आंकड़े सार्वजनिक किए जाए ताकि आवंटन प्रक्रिया में पारदर्शिता आ सके। इससे यह पता चल सकेगा कि राज्यों को कितनी वैक्सीन मिली, सरकारी अस्पतालों और निजी अस्पतालों को कितनी वैक्सीन मिली।

अब 45+ के लोगों को खुद से रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं

तीसरा, केंद्र सरकार बताए कि जून और जुलाई के महीने में दिल्ली को कितनी वैक्सीन मिलेगी ताकि उसके अनुसार दिल्ली सरकार वैक्सीनेशन की योजना बना सके। उन्होंने कहा कि दिल्ली में वैक्सीन कार्यक्रम तेजी से चलाया जा रहा है आज 45+ आयुवर्ग के लोगों के लिए वैक्सीन केंद्रों को अस्पतालों से स्कूलों में शिफ्ट किया गया है ताकि वैक्सीनेशन को और गति मिल सके। साथ ही वॉक-इन वैक्सीनेशन की सुविधा भी शुरू की गई है। मतलब कि अब 45+ के लोगों को खुद से रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं होगी। उनका रजिस्ट्रेशन वैक्सीन केंद्र पर ही होगा। साथ ही 18-44 आयुवर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन भी स्कूलों में तेजी से हो रहा है। लेकिन 18 प्लस के लिए दिल्ली में केवल 3 दिन की वैक्सीन बाकी है।

दिल्ली सरकार के लिए वैक्सीन लगाना डेटा एकत्र करना नहीं है

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार से सहयोग की अपेक्षा है ताकि दिल्ली में वैक्सीनेशन का कार्यक्रम न रुके। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर की रफ्तार अब धीमी हो रही है। दिल्ली में संक्रमण दर कम हो रही है और कोरोना से होने वाले मौतों की संख्या भी घटी है। इससे अस्पतालों पर भी दबाब कम हुआ है। उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को केंद्र द्वारा जितनी वैक्सीन उपलब्ध करवाई जा रही है दिल्ली सरकार तेजी के साथ उसे जनता को लगा रही है। दिल्ली सरकार के लिए वैक्सीन लगाना डेटा एकत्र करना नहीं है बल्कि दिल्ली के हर एक नागरिक को कोरोना के खतरे से सुरक्षित करना है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।