देश में पहली बार कोरोना संक्रमित लड़की फिर से पॉजिटिव

0
641
third wave of corona

त्रिशूर (एजेंसी)। पिछले साल देश में पहली बार कोरोना पॉजिटिव पाई गई त्रिशूर की लड़की की फिर से जांच में संक्रमित पाई गई, लेकिन उसकी हालत संतोषजनक है। जिला चिकित्सा अधिकारियों ने कहा कि लड़की को कोविड के कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन जब वह दिल्ली के लिए उड़ान भरने वाली थी, तभी कोच्चि हवाई अड्डे पर एक नियमित परीक्षण के दौरान वह फिर से संक्रमित पायी गयी। अधिकारियों ने कहा कि उसे कोई स्वास्थ्य समस्या नहीं है और वह घर पर आराम कर रही है।

चीन के वुहान विश्वविद्यालय से लौटी

चीन के वुहान विश्वविद्यालय में पढ़ने वाली त्रिशूर की छात्रा (29) जब वापस लौटकर भारत आई थी तो 30 जनवरी 2020 को हुई जांच में कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई थी। पिछले साल सामने आए इस पहले मामले के बाद, सरकार ने घोषणा की है कि 15 जनवरी के बाद चीन से आने वाले सभी लोगों का वायरस के लिए परीक्षण किया जाएगा, क्योंकि इसकी मौजूद रहने की अवधि 14 दिनों की होती है। इसके बाद 14 दिनों के होम आइसोलेशन अनिवार्यता को भी निर्धारित किया और सलाह दी कि चीन की यात्राओं से बचना चाहिए।

अगले दिन कोच्चि गई

छात्रा पिछले साल 23 जनवरी की रात चीन के वुहान से कोलकाता पहुंची थी। वह अगले दिन कोच्चि गई, जहां से वह अपने गृहनगर त्रिशूर चली गई। अगले दिन समाचार मीडिया से अलर्ट के बारे में पता चलने पर, वह अपनी यात्रा के बारे में स्वास्थ्य अधिकारियों को सूचित करने के लिए मथिलाकम में निकटतम प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची। चूंकि उसमें बुखार के कोई लक्षण नहीं थे, इसलिए उन्हें 28 दिनों तक घर में रहने और मास्क पहनने के अलावा व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखने की सलाह दी गई। बुखार या खांसी या फ्लू के अन्य लक्षण विकसित होने पर उसे एक संपर्क नंबर भी दिया गया था।

एनआईवी की जांच में मिली पॉजीटिव

इसके बाद 27 जनवरी को फ्लू के लक्षण दिखने पर उसने जिला निगरानी अधिकारी से संपर्क किया। जिला स्वास्थ्य टीम उसके घर पहुंची और उसे त्रिशूर जनरल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में ले गई। उसी दिन, उसके शरीर के तरल पदार्थ का नमूना नेशनल इंस्टीट्यूट आफ वायरोलॉजी (एनआईवी), पुणे भेजा गया था जिसने गुरुवार सुबह मामला पॉजिटिव होने की पुष्टि कर दी।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।