डेरा सच्चा सौदा की अनूठी पहल: ब्लॉक मोहाली में पहली बार हुआ ऐसा सराहनीय कार्य!

Body Donation
डेरा सच्चा सौदा की अनूठी पहल: ब्लॉक मोहाली में पहली बार हुआ ऐसा सराहनीय कार्य!

कृष्ण सिंह इन्सां ने ब्लॉक मोहाली के पहले शरीरदानी होने का हासिल किया गौरव

मोहाली (सच कहूँ/एमके शायना)। जीते जी-रक्तदान तो मरणोपरांत नेत्रदान व देहदान कर डेरा सच्चा सौदा के अनुयायी समाज में मानवता की अनुकरणीय मिसाल पेश कर रहे हैं। देहदानी की कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है ब्लॉक मोहाली सैक्टर-70 निवासी प्रेमी कृष्ण सिंह इन्सां का। जो पिछले कुछ दिनों से खराब स्वास्थ के चलते अपनी स्वांसों रुपी पूंजी पूरी कर कुल मालिक के चरणों में जा विराजे है। Body Donation

शरीरदानी की ‘कुल का क्राउन’ पुत्री गुरप्रीत इन्सां ने बताया कि उनके पिता ने अपने जीते जी मरणोपरांत शरीरदान का फार्म भरा हुआ था। इसलिए उनकी अंतिम इच्छा को पूर्ण करते हुए और पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की पावन प्रेरणा पर चलते हुए डेरा सच्चा सौदा द्वारा चलाए जा रहे मानवता भलाई के कार्यों में से ‘अमर सेवा’ मुहिम (चिकित्सा व शोध कार्यों के लिए मरणोपरांत शरीरदान) के तहत उनका शरीर मेडिकल शोध के लिए एसकेएस हॉस्पिटल मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च सेंटर, मथुरा को दान कर दिया। ‘ज्योति दान’ मुहिम के तहत उनकी आंखें जीएमएसएच सैक्टर-32 अस्पताल में दान की गई।

वहीं इस मौके पर विशेष तौर पर पहुंचे 85 मैंबर कमेटी सेवादार राजेंद्र इन्सां और मलराज इन्सां ने बताया कि शरीरदानी और नेत्रदानी कृष्ण सिंह इन्सां ने अपने पूरे परिवार को पूज्य गुरु जी की प्रेरणानुसार इन्सानियत की राह में लगाया व अपने परिवार को मानवता भलाई के हर कार्य में अग्रणी रखा। उनकी अंतिम यात्रा के समय ब्लॉक के प्रेमी सेवक व शरीरदानी के परिवारजनों तथा साध-संगत ने विनती भजन बोलकर व शरीरदानी कृष्ण सिंह इन्सां अमर रहे, अमर रहे के नारे लगाकर पूरे सम्मान के साथ उनकी पार्थिव देह को एम्बुलेंस में विदा किया। वहीं ब्लॉक के जिम्मेवार दविंदर इन्सां ने बताया कि यह ब्लॉक मोहाली का पहला शरीरदान है। Body Donation

पुत्री और दामाद ने दिया अर्थी को कंधा

बेटा-बेटी एक सम्मान मुहिम के तहत शरीरदानी कृष्ण सिंह इन्सां की पुत्री गुरप्रीत कौर इन्सां ने उनकी अर्थी को कंधा दिया। पार्थिव शरीर को रिश्तेदारों सहित बड़ी संख्या में ब्लॉक की साध-संगत, शाह सतनाम जी ग्रीन एस वैल्फेयर विंग के सेवादारों के अलावा आसपास के लोगों द्वारा नेत्रदानी और शरीरदानी कृष्ण सिंह इन्सां अमर रहे और आंखें दान व शरीरदान महादान के नारों से अंतिम विदाई दी। इस मौके पर शरीरदानी की धर्मपत्नी सरबजीत इन्सां, पुत्री गुरप्रीत इन्सां, दामाद हरप्रीत इन्सां अन्य परिवारिक मैंबरों सहित ब्लॉक के जिम्मेवार व साध-संगत मौजूद रही। Body Donation

अपना काम छोड़ आमजन की प्यास बुझा रहे डेरा श्रद्धालु!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here