कांग्रेस में विघटन पार्टी के लिए चिंता का विषय, देशहित में ठीक नहीं : भूपेन्द्र हुड्डा

0
201
bhupinder-singh-hooda sachkahoon

पूर्व सीएम बोले : पंजाब घटनाक्रम का हरियाणा कांग्रेस में कोई प्रभाव नहीं

रोहतक (सच कहूँ/नवीन मलिक)। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने पंजाब में हुए घटनाक्रम को लेकर कहा कि इससे प्रदेश कांग्रेस पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा और यह पंजाब का मामला है। हाल ही में पंजाब के मुख्यमंत्री द्वारा इस्तीफा देने को लेकर पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि कांग्रेस में विघटन चिंता का विषय है और यह देशहित में नहीं है। इसके लिए पार्टी हाईकमान को मंथन करने की जरूरत है। वे वीरवार को पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। पूर्व सीएम ने प्रदेश सरकार पर भी निशाना साधा और कहा कि सरकार जनसमर्थन खो चुकी है और सिर्फ विधायकों के संख्या बल पर सरकार टिकी है। उन्होंने खेतों में हुए जलभराव की निकासी व बर्बाद हुई फसलों की गिरदावरी करवा कर किसानों को उचित मुआवजा देने की मांग की।

उन्होंने कहा कि प्रदेश भ्रष्टाचार, अपराध, बेरोजगारी में नंबर वन है। प्रदेश में सड़कों की हालत भी दयनीय बनी हुई है, लेकिन सरकार मरम्मत तक नहीं करवा रही है। उन्होंने कहा कि पेपर लीक मामले में हरियाणा के गृह मंत्री भी सीबीआई जांच की मांग कर चुके हैं, लेकिन सरकार किसी भी मामले की जांच कराने को तैयार नहीं है, जिससे सरकार की नियत पर शक बढ़ जाता है।

विपक्ष आपके समक्ष कार्यक्रम कांग्रेस विधायक दल का फैसला

विपक्ष आपके समक्ष कार्यक्रम को लेकर पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि यह सभी कांग्रेस विधायकों का फैसला है और जल्द ही जिला स्तर पर कार्यक्रम की शुरूआत की जाएगी। इस कार्यक्रम के दौरान लोगों की समस्याओं को प्रमुखता से उठाया जाएगा।

मजबूती से लड़ेंगे ऐलनाबाद चुनाव

ऐलनाबाद उपचुनाव को लेकर पूर्व सीएम हुड्डा ने कहा कि पार्टी मजबूती से चुनाव लड़ेगी और भारी बहुमत से विजयी होगी।

बाजरे का भाव एमएसपी के हिसाब से दे सरकार

सरकार द्वारा हाल में ही बाजरा को भावांतर योजना में शामिल करने का भी पूर्व सीएम हुड्डा ने विरोध किया और कहा कि बाजरे का भाव एमएसपी के हिसाब से देना चाहिए, लेकिन सरकार अब अपने वायदे से पलट रही है।

किसान आंदोलन को लेकर उन्होंने कहा कि किसानों से बातचीत के लिए सरकार को आगे आना चाहिए। वार्ता के माध्यम से ही किसान आंदोलन का समाधान हो सकता है। इस अवसर पर विधायक भारत भूषण बतरा, शंकुतला खटक, पूर्व राज्यसभा सांसद शादीलाल बतरा, पूर्व विधायक आनंद सिंह दांगी, संत कुमार, चक्रवर्ती शर्मा प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।