नशा छोड़ना चाहते हो तो पूज्य गुरु जी करेंगे आपकी मदद, जरूर पढ़ें

चंडीगढ़ (एमके शायना)। किसी भी देश का भविष्य और देश की तरक्की देश के युवाओं पर टिकी होती है। देश की युवा पीढ़ी अगर गलत रास्ते पर चलें तो निश्चित तौर पर उनका जीवन अंधकार में चला जाता है। देश के युवा वर्ग को जिंदगी के हर पहलू को जीने की इच्छा होती है। युवा वर्ग नशे को अपनी शान समझते हैं। युवा वर्ग शराब गुटका तंबाकू बीड़ी सिगरेट का नशा करते हैं, उनकी जशन की पार्टी नशे के बगैर अधूरी होती है। आजकल युवा वर्ग और कई व्यस्क लोग भी सिगरेट या शराब का सेवन करते हुए नजर आते हैं। उन्हें यह समझ नहीं आता कि यह उनके लिए कितना हानिकारक और जानलेवा साबित हो सकता है। युवा वर्ग के लिए नशा एक फैशन बन गया है। नशे से मानसिक सामाजिक और पारिवारिक स्तर पर बुरा असर पड़ता है। कुछ लोग नशा करके घर पर आकर अपनी पत्नी से मारपीट करते हैं, यह घिनौना अपराध है। नशा करके सड़क पर गाड़ी चलने से दुर्घटना हो सकती है और होती भी है। जीवन में परिवार में अशांति का निवास रहता है। नशे की लत के कारण व्यक्ति अपनी आर्थिक संपत्ति लुटा बैठता है और समाज में घृणा का पात्र बनता है। डेरा सच्चा सौदा शुरू से ही समाज को नशा रहत बनाने के लिए कमर कस कर मानवता भलाई के कार्य कर रहा है। पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह जी इन्सां की शिक्षाओं के द्वारा छह करोड़ से ज्यादा लोग नशा छोड़कर खुशनुमा और अच्छी जिंदगी व्यतीत कर रहे हैं। यही नहीं वह दूसरों की भी जिंदगीयां बदल रहे हैं, दूसरों का नशा और बुराइयां छुड़वा रहे हैं। पूज्य गुरूजी 30 दिन की पैरोल के अंतर्गत बरनावा आश्रम में पधारे। वहां पूज्य गुरु जी ने सत्संगें करके लाखों लोगों का नशा छुड़वाया और उन्हें राम नाम से जोड़ा।

पूज्य गुरु जी के वचनों को ‘बरनावा डायरी’ के एपिसोड बनाकर साध संगत के रूबरू करवाया जाता है। इसी उपलक्ष में डेरा सच्चा सौदा के इंस्टाग्राम पेज पर ‘बरनावा डायरी’ का नौवां एपिसोड पोस्ट किया गया है। जिसमें पूज्य गुरु जी ने नशों के नुकसान और इसका समाज और परिवार पर हो रहे गलत असर के बारे में विस्तार पूर्वक समझाते हुए फरमाया,”आज के दौर में हमने जो देखा नशों का बोलबाला बहुत बड़ा है। चहूं और नशों की बाढ़ आई हुई है। नशे को रोका जा सकता है। आमतौर पर डॉक्टर कैसे करते हैं कि नशा छुड़वाने के लिए मेडिसिन देते हैं और उसमें भी नशा होता है। फिर धीरे-धीरे उस मेडिसिन की डोज कम कर देते हैं या उसकी पावर कम कर देते हैं और धीरे-धीरे नशा छुड़वाया जाता है। कई बार हमसे कई लोगों ने पूछा कि गुरु जी आपने तो 6 करोड का नशा छुड़वा रखा है।आप कैसे छुड़वाते हो, तो हम भी डोज देते हैं पर हमारी वाली डोज थोड़ी ज्यादा बड़ी है। ये डोज है ओम हरि अल्लाह वाहेगुरु के नाम की। जब यह डोज नशा करने वाला ले लेता है, तो बाकी नशे तो बहुत कम दरजे के हैं। हमारे हिंदू धर्म में फरमाया है, संत पीरों फकीरों ने, कि दुनियावी नशे पोस्त भंग अफीम शराब यह सब राम नाम के नशे के सामने तूचछ हैं।

यानी गंदगी के स्मान हैं। दुनियावी नशा बर्बाद करता है और राम नाम का नशा आबाद करता है। दुनियावी नशा शरीर का सत्यानाश करता है और राम नाम का नशा शरीर को फौलाद बना देता है। दुनियावी नशा घर परिवार को नर्क बना देता है, समाज में जगह-जगह बेइज्जती करवाता है और राम नाम का नशा सब जगह से इज्जत और सत्कार दिलवाता है। राम नाम का नशा जब इंसान ले लेता है, उसका जाप करता है तो उसकी इज्जत समाज में बढ़ती है, घर में बढ़ती है और सबसे बड़ी बात मानो या ना मानो दुनियावी नशा करने वाला हमेशा हीन भावना से ग्रस्त रहता है। वह अपनी निगाह में गिरा रहता है और राम नाम का नशा लेने वाला हमेशा अपनी निगाह में हौसले बुलंद रखता है, आत्मबल बढ़ा रहता है और सतगुरु अल्लाह राम से जुड़ा रहता है तो इसलिए लोग यूं नशा छोड़ जाते हैं ।क्योंकि बड़ी डोज का नशा आ गया ना, ‌ राम नाम का। तो भाई नशा ही करना है तो ओम हरि अल्लाह वाहेगुरु के नाम का करो। हमेशा परमपिता परमात्मा को अंग संग समझो। कभी भी उसे अपने आप से दूर मत समझो।

‘बरनावा डायरी’ के इस एपिसोड को साध संगत ज्यादा से ज्यादा देख रही है और लाइक कमेंट शेयर कर रही है। आपको बता दें कि यह ह्यबरनावा डायरीह्ण के स्पेशल एपिसोड्स हर मंगलवार और शुक्रवार को डेरा सच्चा सौदा के आॅफिशियल इंस्टाग्राम पेज पर अपलोड किए जाते हैं। अगर आपने यह एपिसोड अभी तक नहीं देखे तो आज ही यह एपिसोड देखें और पूज्य गुरु जी के लाइफ चेंजिंग अनमोल वचन सुनकर अपनी जिंदगी को खुशनुमा बनाएं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here