भरतपुर में पेपर का झांसा देकर धोखाधड़ी के मामले में पांच लोग गिरफ्तार

Employee arrested sachkahoon

भरतपुर (एजेंसी)। राजस्थान के भरतपुर में मथुरागेट पुलिस ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में प्रथम पारी की परीक्षा से पहले पेपर उपलब्ध कराने का झांसा देकर लाखों रुपए की धोखाधड़ी करने वाले गिरोह का खुलासा कर पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरोह ने करीब दो दर्जन से अधिक अभ्यर्थियों से सम्पर्क कर कई अभ्यर्थियों से लाखों रुपए भी हड़पे लेकिन जब बे अभ्यर्थियों को पेपर उपलब्ध नहीं करा पाये तो गिरोह का भांडा फूट गया। पुलिस अधीक्षक श्याम सिंह के अनुसार सोमवार को डीएसटी टीम की सूचना पर थाना मथुरागेट पुलिस ने एक एसेंट कार से गोविन्द (28) निवासी सोनोटी थाना उच्चैन, शुभम निवासी कुरका थाना उच्चैन, रवि (22) निवासी कुरका थाना उच्चैन, देवेन्द्र सिह निवासी कुंदेर थाना उच्चैन, राजासिंह (24) साल निवासी सोनोठी थाना उच्चैन को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर पाया कि शकील, देवेन्द्र, लाल सिंह व हेमन्त की ओर से गिरोह बनाकर परीक्षार्थियों को झूठे प्रलोभन देकर परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध कराने की धोखाधड़ी कर पैसे ऐंठने का काम किया जा रहा है।

परीक्षार्थी शुभम की ओर से पुलिस भर्ती परीक्षा 2022 की गत 13 मई का प्रथम पारी का पेपर प्राप्त करने के लिए शकील गद्दी निवासी कुन्देर को दो लाख रुपए दिए, लेकिन शकील की ओर से किए गए वादे अनुसार परीक्षा से पूर्व पेपर उपलब्ध नहीं कराने पर शुभम ने दुबारा शकील से संपर्क किया तो शकील ने कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2022 के फर्जी पेपर भेजकर अन्य लोगों को बेचकर पैसे कमाने का कहा, लेकिन सही पेपर नहीं होने के कारण पैसे नहीं मिले। इस पर शकील, लालसिंह, हेमंत, देवेन्द्र, शुभम, राजा, रवि, गोविन्द व हेमन्त की ओर से परीक्षा से पूर्व परीक्षार्थियों के साथ धोखाधड़ी कर रुपए कमाने के आशय से फर्जी पेपर उपलब्ध कराए गए। हिरासत में लिए गए आरोपियों के मोबाइल में इससे संबंधित पेपर के नमूने व चैट मिलने से आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर आरोपी देवेन्द्र, शुभम, राजा, रवि व गोविन्द से पूछताछ की जा रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।