क्राइम: दिल्ली में 2500 करोड़ रुपये की हेरोइन जब्त, 4 तस्कर गिरफ्तार

0
192
Arrested

नई दिल्ली (सच कहूँ न्यूज)। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने शनिवार को नशीले पदार्थ की तस्करी के बड़े अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश करते हुए 350 किलो से अधिक हेरोइन के साथ चार लोगों को गिरफ्तार किया है। हेरोइन की कीमत अंतराष्ट्रीय बाजार में करीब 2500 करोड़ रुपये आंकी गई है। स्पेशल सेल के पुलिस उपयुक्त प्रमोद सिंह कुशवाहा ने शनिवार को संवाददाताओं को बताया कि स्पेशल सेल टीम ने नशीले पदार्थ की बड़ी खेप पकड़ने में सफलता हासिल की है।

पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है जिसकी पहचान गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी, गुरजोत सिंह उर्फ गोलू, हजरत अली और रिजवान कश्मीरी के रूप में हुई है। इनमें से हजरत अली अफगानिस्तान का निवासी है और इसे हरियाणा के गुरुग्राम से गिरफ़्तार किया गया है। उन्होंने कहा कि इनके पास से 350 किलो से अधिक हेरोइन बरामद की गयी है। पुलिस ने चारों आरोपियों से पूछताछ कर इनके गिरोह से जुड़े अन्य लोगों का पता लगाने की कोशिश कर रही है।

क्या है मामला

गौरतलब है कि स्पेशल सेल ने वर्ष 2019 में मल्टी स्टेट आॅपरेशन में 330 किलो अफगान हेरोइन जब्त की थी। तभी से टीम इस आॅपरेशन से आगे खुफिया जानकारी को विकसित कर रहीं थीें हाल ही में यह जानकारी मिली थी कि रिजवान अहमद उर्फ रिजवान कश्मीरी नामक व्यक्ति दिल्ली और पंजाब, मध्य प्रदेश और हरियाणा जैसे कुछ अन्य राज्यों के क्षेत्र में नशीली पदार्थों के कारोबार में संलिप्त है। इसके अलावा 05 जुलाई को एक विश्वसनीय सूत्र के माध्यम से एक विशिष्ट सूचना मिली कि रिजवान दक्षिणी दिल्ली के घिटोरनी इलाके में निषिद्ध ड्रग्स की खेप पहुंचाने के लिए आने वाला है। सूचना पर कार्रवाई करते हुए स्पेशल सेल की टीम द्वारा एक जाल बिछाया गया और रिजवान को उस समय गिरफ्तार कर लिया गया जब वह एक किलो हेरोइन के पैकेट की डिलीवरी के लिए जा रहा था।

पुलिस मामले की जांच में जुटी

उन्होंने कहा कि एक किलो हेरोइन की यह शुरूआती बरामदगी बाद में तफतीश के दौरान एक बहुत बड़ी खेंप का हिस्सा मालूम हुई। आगे की जांच के दौरान आरोपी रिजवान कश्मीरी से विस्तार से पूछताछ की गई। उसने खुलासा किया कि एक अफगान नागरिक ईशा खान उससे यह काम करवाता है जो हाल ही में भारत छोड़कर अब अफगानिस्तान में छिपा हुआ है।

ईशा खान ने रिजवान कश्मीरी को निर्देश दिया था कि वह पंजाब निवासी गुरप्रीत सिंह और गुरजोत सिंह से संपर्क करें, जो वर्तमान में हरियाणा के फरीदाबाद के सेक्टर-65 की एक नामी सोसायटी से ड्रग रैकेट संचालित कर रहे हैं। इस सूचना पर तुरंत कार्रवाई करते हुए रिजवान कश्मीरी के बताए गए स्थान पर हरियाणा के सेक्टर-65 स्थित एनएसजी विहार को-ओपरेटिव हाउसिंग सोसायटी में गुरप्रीत सिंह और गुरजोत सिंह के ठिकानों पर छापेमारी की गई। इस छापेमारी में गुरप्रीत सिंह और गुरजोत सिंह को गिरफ्तार किया गयो उनसे पूछताछ की गयी जिसमें दोनों ने बताया कि सोसाइटी की पार्किंग में खड़ी हुंडई वर्ना और होंडा अमेज कार से भारी मात्रा में हेरोइन है जिसे बाद में बरामद कर

हरियाणा के गुरुग्राम क्षेत्र से किया गया गिरफ्तार

इसके अलावा गुरप्रीत सिंह और गुरजोत सिंह के किराए के मकान में एक बेड से भी 70 किलोग्राम नशीले पदार्थ/हेरोइन की बरामदगी हुई। इस तरह हेरोइन की कुल बरामदगी अब 352 किलो हो गई। लगातार पूछताछ करने पर आरोपी गुरप्रीत सिंह और गुरजोत सिंह ने खुलासा किया कि वे इस ड्रग रैकेट को वर्तमान में पुर्तगाल में छिपे हुए नवप्रीत सिंह उर्फ नव नामक रैकेट के मुखिया के निर्देशों पर संचालित कर रहे हैं।

गुरप्रीत सिंह की मुलाकात नवप्रीत सिंह उर्फ नव से पंजाब की कपूरथला जेल में उस समय हुई जब वे वहां एनडीपीएस के अलग-अलग मामलों में गिरफ्तार होने पर न्यायिक हिरासत में थे। इसके अलावा रिजवान कश्मीरी के बताए गए अनुसार एक अफगानी नागरिक हजरत अली को भी हरियाणा के गुरुग्राम क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया और उसके कब्जे से भी दो किलो हेरोइन बरामद की गई।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlink din , YouTube  पर फॉलो करें।