बच्चों को डालें दांत साफ करने की आदत

0
447
cleaning-teeth

दांत व्यक्ति के शरीर का प्रमुख अंग होता है। अगर दांत साफ सुथरे हैं तो बहुत-सी बीमारियों से बचा जा सकता है। इसलिए बच्चों को दांतों को साफ रखने की हिदायत बचपन से ही दी जाती है, जिससे बड़े होकर ये उनकी आदत में शामिल हो सके। ये काम थोड़ा टिपिकल जरूर है, लेकिन बच्चों को ओरल हेल्थ के टिप्स देना आवश्यक है, जिससे उनका मुंह, जीभ और दांत साफ रह सके।

दांतों में कीड़े लगना

अगर बच्चे को टीथ क्लीन करने की हैबिट्स आप चाइल्डहुड में डाल देते हैं तो उनके दांतों में कीड़े नहीं लगेंगे। शिशुवस्था में ब्रश करने की आदत दांतों में संक्रमण, दर्द, सड़न, मसूड़ों में कीड़े लगने और गड्ढे होने जैसी समस्या को चट से दूर कर देती है।

खानपान का भी रखें ध्यान

बड़े होते बच्चों में पैरेंट्स कुछ चीजों को इग्नोर करना शुरू कर देते हैं और उनकी डिमांड को पूरा करने के चलते अंजाने में ही सही उनकी सेहत के साथ खिलवाड़ कर बैठते हैं। जैसे चॉकलेट, आइसक्रीम, पॉपकॉर्न, मीठी चीजें, स्वास्थ को नुक्सान पहुंचाने वाली चीजों को वो खुद अपने बच्चों को खिलाते हैं। नतीजतन उन्हें इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ता है।

अपने बच्चों को सिखाएं ये अच्छी आदतें :

नियमित ब्रश करना

सुबह उठने के बाद ब्रश जरूर करना चाहिए, साथ ही खाना खाने के बाद भी दातों को साफ रखना जरूरी है, नहीं तो दांतों में बैक्टीरिया लगने के चांसेज बढ़ जाते हैं।

सोते समय न दें दूध की बोतल

बच्चों को सोते समय दूध की बोतल न दें। बच्चों की आदत दूध को बोतल से पीने की होती है। अगर बच्चे बोतल से दूध पीते हैं तो उनके टीथ शक्कर के संपर्क में ज्यादा देर तक रहते हैं जोकि उनके लिए हानिकारक है। साथ ही दांतों में गड्ढे होने के चांसेज बढ़ जाते हैं।

कुछ ऐसे नुस्खे जिसे बच्चे करते हैं पसंद

कुछ ऐसे तरीके भी हैं जिसे बच्चे बहुत पसंद करते हैं और वो अपने दांत शौक से साफ करेंगे।

1. बच्चों को टेडी जैसा टूथ ब्रश लें या बच्चों की पसंद का ब्रश लें।
2. बच्चों के पसंद का ब्रश लें साथ ही दांतों को साफ रखने वाली कोई कहानी उन्हें सुनाएं। ऐसी कहानी जो सफाई की तरफ प्रेरित करती हो।
3. बच्चों को पुरुस्कृत भी करना चाहिए, जिससे उनका सफाई की तरफ और रुझान बढ़े। गिफ्ट में उन्हें चॉकलेट टॉफी की अपेक्षा फ्रूट्स को देना चाहिए जिससे उनकी सेहत भी बनेगी।
सुंदर चमकते दांत सभी को अच्छे लगते हैं, लेकिन आजकल की जीवनशैली के चलते बच्चों से लेकर बड़ों को ओरल से संबंधित बीमारियां तेजी से जकड़ती है। थोड़ी सी सावधानी और बचाव से ओरल संबंधित दिक्कतों से बचा जा सकता है।

-मोनिका अग्रवाल

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और Twitter पर फॉलो करें।