बोरवेल में फंसे राहुल के रेस्क्यू में लगा सरकारी अमला

रायपुर/जांजगीर (एजेंसी)। छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चाम्पा जिले के पिहरीद में बोरेवेल के लिए किए गए गड्ढे में गिरे 11 वर्षीय राहुल साहू का रेस्क्यू आपरेशन अब भी जारी है।इस कार्य में 500 से अधिक सरकारी अमला लगा हुआ हैं और अब इसमें सेना की भी मदद ली जा रही हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर मासूम राहुल के रेस्क्यू के लिए बीते 43 घंटे से भी अधिक समय से घटनास्थल पर जिला कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला एवं पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल समेत विभिन्न विभागों के 500 से अधिक अधिकारियों कर्मचारियों की टीम मौजूद है।

साथ ही रेस्क्यू आॅपरेशन में अत्याधुनिक मशीनों और वाहनों का इस्तेमाल किया जा रहा है। राहुल परसो खेलते समय घर के पास ही खुदे बोरवेल के गड्ढे में जा गिरा था। इसकी जानकारी परिजनों को लगभग तीन घंटे बाद मिली, फिर प्रशासन को इसकी सूचना दी गई। सूचना मिलते ही जिला कलेक्टर जितेन्द्र शुक्ला, पुलिस अधीक्षक विजय अग्रवाल पूरे दल-बल के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। बताया जा रहा है 80 फीट गहराई वाले बोरवेल में राहुल 60 फीट पर फंसा हुआ है। जिला प्रशासन ने बचाव कार्य के लिए त्वरित कार्यवाही शुरू कर दी। राहुल को बोरवेल से बाहर निकालने के लिए बोरवेल के पास ही सुरंग खोदी जा रही है।

सेना की जवान कर रहे प्रयास

राहुल के रेस्क्यू के लिए एसडीआरएफ व एनडीआरएफ के साथ अब सेना की भी मदद ली जा रही है। मासूम राहुल की सुरक्षित बाहर निकालने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने जिला कलेक्टर को आवश्यक निर्देश दिए हैं। वहीं मुख्यमंत्री ने राहुल के परिजनों से भी बात कर उन्हें शासन-प्रशासन की ओर से यथासंभव प्रयास करने आश्वस्त किया है।

रेस्क्यू आपरेशन के लिए के लिए घटनास्थल पर चार आईएएस, दो आईपीएस, पांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, चार एसडीओपी,पांच तहसीलदार, आठ थाना प्रभारी समेत बड़ी संख्या में अधिकारी-कर्मचारी, होमगार्ड्स मौके पर मौजूद हैं।भारतीय सेना से मेजर गौतम सूरी के साथ चार सदस्यीय टीम भी घटनास्थल पर पहुंचकर आवश्यक कार्यवाही कर रही है।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here