विज के जनता दरबार में उमड़े लोग, सुनाया दुखड़ा

Anti-Terrorism Squad sachkahoon

गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों को शीघ्र समाधान के दिए आदेश

  • सर्दी के मद्देनजर आमजन की सुविधा के लिए गए थे विशेष प्रबंध

अंबाला छावनी (सच कहूँ न्यूज)। अंबाला छावनी के विश्राम गृह में शनिवार को गृहमंत्री अनिल विज के जनता दरबार में दूर-दराज क्षेत्रों से आए लोगों ने अपनी समस्याएं रखीं। इसी दौरान फरियादियों के लिए जनता दरबार में ठंड से बचाव के लिए भी इंतजाम किए गए थे। अम्बाला शहर के जंडली एरिया से आए युवक ने मंत्री से फरियाद लगाते हुए कहा कि उसने पासपोर्ट के लिए अप्लाई किया था। लेकिन उसका पोसपोर्ट नहीं बन रहा। नेशनलिटी सर्टिफिकेट के लिए वह विभिन्न विभागों के चक्कर लगा रहा है। उसका सर्टिफिकेट शीघ्र बनवाया जाए।

यह भी पढ़ें:– देवर भतीजों के विरुद्ध कराया मामला दर्ज

इसी प्रकार चक्कू लदाना से आए एक युवक मंत्री के सामने फरियाद की। चरखी दादरी से आए एक व्यक्ति ने बताया कि उसकी भाभी के साथ मारपीट की गई थी। जिसके बाद एसपी चरखी दादरी ने एसआईटी बनाई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। जिस पर मंत्री ने तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए। इसी प्रकार बहादुरगढ़ से आए अजीत कुमार ने बताया कि सब्जी मंडी में उसकी दुकान है, लेकिन दुकान के आगे दीवार बना दी गई है। वहीं एक महिला ने मंत्री से गुहार लगाते हुए कहा कि उससे एक एग्रीमेंट कर 20 लाख रुपए की धोखाधड़ी की गई, लेकिन आरोपियों के खिलाफ पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही। रेवाड़ी से आए एक व्यक्ति ने बताया कि उसकी माँ व पत्नी पर कुछ दिन पहले हमला किया गया।

लेकिन पुलिस द्वारा कार्रवाई नहीं की गई तो वहीं पंचकूला से आए रामू ने बताया कि फोन पर एक व्यक्ति ने उसका भतीजा बताते हुए उससे 3 लाख रुपए की धोखाधड़ी की। उसका कहना था कि वह पिछले 6 महीने से कार्रवाई के लिए चक्कर काट रहा है। लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई तो वहीं एक अन्य फरीयादी हरीश कुमार ने कहा कि उसके पिता पुलिस में थे। ड्यूटी के दौरान उनकी मौत हो गई थी। एक्स ग्रेशिया के तहत परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का प्रावधान है, लेकिन अभी तक परिवार के किसी भी सदस्य को नौकरी नहीं दी गई। मंत्री ने तुरंत इस मामले में एसीएस से पता करने के निर्देश दिए। एक व्यक्ति ने कबूतरबाजी के मामले में भी मंत्री से गुहार लगाई और कहा कि उसे उसके पैसे दिलवाए जाएं। जनता दरबार में सुबह से ही लोग विभिन्न जिलों से आना शुरू हो गए थे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here