संदिग्ध परिस्थितियों में घर में आग लगने से झुलसे पति-पत्नी व पुत्र

fire sachkahoon
  •  परिजनों ने अज्ञात पर लगाया पेट्रोल छिड़कर आग लगाने का आरोप
  •  पीलीबंगा के वार्ड 9 का मामला

हनुमानगढ़। पीलीबंगा के वार्ड 9 के एक घर में गुरुवार अल सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में आग लगने से पति-पत्नी व पुत्र झुलस गए। तीनों को पीलीबंगा सीएचसी से हनुमानगढ़ रेफर कर दिया। हालत नाजुक होने पर मां-बेटे को हनुमानगढ़ से बीकानेर रेफर कर दिया। परिजनों ने अज्ञात जने पर खिड़की से पेट्रोल छिड़क जान-बूझकर आग लगाने का आरोप लगाया। फिलहाल पीलीबंगा पुलिस मामले की छानबीन में जुटी है।

जानकारी के अनुसार पीलीबंगा के वार्ड 9 निवासी जसवीर दास, उसकी पत्नी मनप्रीत कौर व बेटा एकमजीत सिंह (6) गुरुवार अल सुबह करीब साढ़े पांच बजे घर के आंगन में सो रहे थे। उसी समय घर में अज्ञात कारणों से आग लग गई और पति-पत्नी व बेटा आग लगने से झुलस गए। चीख-पुकार सुनकर आस-पड़ोस के लोग वहां पहुंचे और तीनों को झुलसी अवस्था में पीलीबंगा के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचाया। यहां से तीनों को हनुमानगढ़ के राजकीय जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।

 हालत नाजुक होने पर मां-बेटे को किया बीकानेर रेफर

हनुमानगढ़ टाउन के राजकीय जिला चिकित्सालय के ट्रोमा सेंटर में तीनों का इलाज शुरू किया गया। चिकित्सकों ने मनप्रीत कौर व एकमजीत की हालत ज्यादा नाजुक होने पर मां-बेटे को हायर सेंटर बीकानेर रेफर कर दिया। वहीं जसवीर दास को भर्ती कर इलाज शुरू किया। जिला अस्पताल में मौजूद जसवीर दास के भाई जगसीर दास ने बताया कि उसका भाई जसवीर दास, भाभी मनप्रीत व भतीजा एकमजीत घर में बने आंगन में सोए हुए थे। गुरुवार अल सुबह करीब साढ़े पांच बजे अज्ञात जने ने खिड़की से पेट्रोल फेेंककर आग लगा दी।

आग लगने से तीनों जने गंभीर रूप से झुलस गए। जसवीर दास ने आशंका जताई कि उसके भाई की किसी से रंजिश हो सकती है। उसी रंजिश को लेकर उसके भाई, भाभी व भतीजे को जिंदा जलाया गया। साथ ही कहा कि पुलिस की छानबीन में ही इसका खुलासा हो सकता है। दोपहर समाचार लिखे जाते समय तक इस संबंध में किसी प्रकार का मुकदमा पीलीबंगा पुलिस थाना में दर्ज नहीं हुआ था। पीलीबंगा पुलिस ने जिला अस्पताल पहुंच जसवीर दास के बयान लिए।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here