बरवाला के पास बेहोश पड़ा था घायल रामेहर, साध-संगत ने पहुंचाया अस्पताल

Sadh Sangat Barwala sachkahoon

जुलाना की साध-संगत ने हस्पताल पहुंंचाकर बचाई जान

  • घायल के परिजन बोले : धन्य हैं गुरु जी, जो अपने शिष्यों को ऐसी नेक शिक्षा देते हैं

जुलाना (सच कहूँ/कर्मबीर)। जुलाना की साध-संगत (Sadh-Sangat, Julana) ने सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल को अस्पताल पहुंचाकर इंसानियत का परिचय दिया है। जानकारी देते हुए बराड़ खेड़ा निवासी सुरेंद्र इन्सां ने बताया कि वो अपनी गाड़ी में सरसा दरबार से 2 दिन की सेवा करके लौट रहे थे। जैसे ही वो बरवाला के पास पहुंचे तो देखा कि सड़क पर एक बाइक सवार गंभीर रूप से घायल पड़ा था।

इसके पश्चात सेवादारों ने गाड़ी से सेवा में गई साध-संगत(Sadh-Sangat, Julana) को उतार दिया और घायल को बरवाला के एक अस्पताल में भिजवाया और उसके परिजनों से संपर्क किया। घायल को होश आने के बाद उसने बताया कि उसका रामेहर है और वो नगूरां का रहने वाला है। हादसे के वक्त वह अपने रिश्तेदार कैलाश बधावड़ के साथ किसी काम से बरवाला जा रहा था। रास्ते में किसी अज्ञात वाहन ने उसे टक्कर मार दी, जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गया। घायल होने पर किसी ने भी उसकी सुध नहीं ली तो कुछ देर बाद वह बेहोश हो गया। डेरा सच्चा सौदा के अनुयायियों ने उसे अस्पताल पहुंचाकर उसकी जान बचाई।

वह डेरा अनुयायियों का कोटि-कोटि धन्यवाद करता है। कुछ देर बाद उसके परिजन अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने कहा कि धन्य हैं पूज्य गुरु जी, जो अपने शिष्यों को ऐसी नेक शिक्षा देते हैं। सेवादारों ने कहा कि ये सब पूज्य गुरु संत डॉ. गुरमीत राम रहीम सिंह इन्सां द्वारा दिखाए गए मार्ग पर चलते हुए साध-संगत कर रही है। वहीं सेवादारों की सेवा भावना को देखते हुए ब्लॉक भंगीदास सुभाष इन्सां ने इन्हें सम्मानित करने की बात कही। इस मौके पर रामनिवास इन्सां, सुरेंद्र इन्सां, उमेद इन्सां, राजेश इन्सां, सुशील इन्सां, जगदीश इन्सां आदि मौजूद रहे।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramLinkedIn , YouTube  पर फॉलो करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here