नाम दे बगैर स्वास जाना नहीं चाहिदा…

Naamcharcha
Naamcharcha : केप्शन:- जाखल। ब्लॉक स्तरीय नामचर्चा के दौरान बैठी साध-संगत

ब्लॉक स्तरीय नामचर्चा में गूंजा राम का नाम

जाखल (सच कहूँ/तरसेम सिंह)। Naamcharcha: जाखल ब्लाक के भुना रोड़ पर बने डेरा सच्चा सौदा मानवता भलाई केंद्र में रविवार को ब्लॉक स्तरीय नामचर्चा बड़े ही धूमधाम से सम्पन्न हुई। नामचर्चा में विशेष रूप से पहुंचे हरियाणा 85 मेंबर भाई बहनों ने उपस्थित साध संगत को डेरा सच्चा सौदा की ओर से चलाए जा रहे 164 मानवता भलाई कार्यों के लिए प्रेरित किया।नामचर्चा कार्यक्रम का मंच संचालन करते हुए सतपाल इन्सां शक्करपुरा ने विनती का भजन बुलवाकर शुरूआत करवाई। नामचर्चा सुबह 11 बजे से 1 बजे तक 2 घंटे चली। Jakhal News

नामचर्चा (Naamcharcha) में कविराज भाइयों ने एक के बाद एक कर लगाए जोरदार शब्द जैसे “नाम दे बगैर स्वास जाना नहीं चाहिदा” जगत के रंग क्या देखूं, तेरा दीदार काफी है” इत्यादि भजनों का गायन कर माहौल को भक्तिमय बना दिया। अंत में विजय कुमार मुस्सा खेड़ा वाले ने डेरा से प्रकाशित ग्रंथ “सचखंड की सड़क” नामक ग्रंथ से व्याख्या करते हुए नाम और गुरु की महिमा का वर्णन करते हुए बुराइयों से दूर रहने के लिए गुरु बचनो से प्रेरित किया। इस अवसर पर डेरा सच्चा सौदा द्वारा गठित हरियाणा 85 मेंबरी कमेटी के सदस्य सिमरजीत टोहाना, राजीव मेहता, सोनू सिंगला, राजू वर्मा, भी विशेष तौर पर पहुंचे।

नामचर्चा (Naamcharcha) की समाप्ति के अवसर पर गुरू का प्रसाद अटूट बरताया गया। इस मौके पर हरियाणा 85 मेंबरी कमेटी के सदस्य, सभी गांवों के 15 मेंबर, सहित ग्रीन एस वैलफेयर फोर्स विंग के सदस्य, सोनू कुमार इन्सां, मास्टर निर्मल सिंह, शिव कुमार, राजेश कोई, बलकार साधनवास, रामफल म्योंद कलां, वीरेंद्र बिंदा, जंटा चांदपुरा, सतीश शर्मा, लीलू शर्मा जेई, देशराज गर्ग, बिट्टू गुप्ता, मुकेश कुमार गोयल, देवेंद्र कक्कड़, बलकार कंबोज, महेंद्र सिधानी के अलावा सैंकड़ो की संख्या में डेरा श्रद्धालुओं ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

यह भी पढ़ें:– Haryana-Punjab Weather Update: जानें अगले तीन दिनों में हरियाणा-पंजाब, यूपी में बरसेंगे बादल, मिलेगी राहत या आफत बनेगी बारिश

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here