इन वोकेशनल कोर्सेस में है जॉब की गारंटी

0
342
Vocational Courses

-सतविंद्र सिंह सिद्धु एजुकेटर व रिंकी एजुकेशन प्लेटफार्म

भारत में युवाओं के पास डिग्री डिप्लोमा होने के बाद भी वह रोजगार पाने में असफल रहते हैं। इसके पीछे सबसे बड़ा कारण यह है कि उनके पास डिग्री तो होती है परंतु स्किलस नहीं होती और यही कारण है कि भारत में बेरोजगारी दिन-ब-दिन बढ़ रही है। किसी भी क्षेत्र में स्किल पाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण है कि उसी क्षेत्र में वोकेशनल कोर्स किया जाए, क्योंकि वोकेशनल कोर्स में आपको प्रैक्टिकल शिक्षा दी जाती है ताकि आप नौकरी करने से पहले ही नौकरी करने के लायक हो जाते हैं और वोकेशनल कोर्स करने के बाद आप किसी भी सरकारी व प्राइवेट इंस्टिट्यूट में आसानी से जॉब पा सकते हैं। यही कारण है कि आज के समय में वोकेशनल कोर्स की मांग बहुत बढ़ गई है और बहुत सारे छात्र अपनी 12वीं व ग्रेजुएशन की शिक्षा करने के बाद वोकेशनल कोर्स की तरफ जा रहे हैं, ताकि वे अपने क्षेत्र में प्रैक्टीकली ज्ञान भी ले सकते हैं। केंद्र सरकार व राज्य सरकार भी इसके लिए समय-समय पर अहम कदम उठा रही है और योजनाएं लेकर आ रही है, जैसे स्किल्स इंडिया और अन्य वोकेशनल इंस्टीट्यूट को जगह जगह पर स्थापित कर रही है।

क्या है वोकेशनल कोर्स:

वोकेशनल कोर्स एक ऐसी प्रकार की शिक्षा है, जिस क्षेत्र में आपको रुचि है और आप उस क्षेत्र में रोजगार प्राप्त करना चाहते हैं तो आप उसी विषय में वोकेशनल कोर्स लेकर प्रैक्टिकली ज्ञान प्राप्त कर सकते हैं। वोकेशनल कोर्स को आप एक प्रकार के ट्रेनिंग कोर्स भी कह सकते हैं, क्योंकि यह आपको आपके रुचि क्षेत्र में प्रशिक्षण देते हैं, वोकेशनल कोर्स में स्टूडेंट्स को किसी विशेष फील्ड के ट्रेड्स के बारे में बताया जाता है।

वोकेशनल कोर्स की सूची:

1. फारेंसिक साइंटिस्ट: फारेंसिक साइंटिस्ट की मांग दिन-ब-दिन बढ़ रही है। भले ही वह मेडिकल के क्षेत्र में या पुलिस क्षेत्र में हो व अन्य कई इंस्टीट्यूट है जो फॉरेंसिक साइंटिस्ट के लिए हर साल आवेदन मांगते हैं। फारेंसिक साइंटिस्ट के क्षेत्र में वोकेशनल कोर्स करने के बाद आप प्राइवेट व सरकारी किसी भी संस्था में आसानी से जॉब कर सकते हैं। साइंटिस्ट वोकेशनल कोर्स को भारत की कई संस्थाएं करवाती हैं जिनके लिए आप आॅनलाइन फॉर्म भरकर अप्लाई कर सकते हैं।
2. विदेशी भाषा: विदेशी भाषा के जानकार के लिए कई प्रकार के कैरियर आॅप्शन उपलब्ध रहते हैं, क्योंकि बहुत सी कंपनियां विदेशी भाषा के जानकारों को अपनी कंपनी में रखती हैं ताकि वे अन्य देशों से कम्युनिकेशन कर सकें और इसके लिए वह काफी अच्छी सैलरी भी देती हैं। ये सैलरी लाखों रुपये में भी होती है तो आप विदेशी भाषा का वोकेशनल कोर्स कर अच्छा कैरियर बना सकते हैं। आप किसी भी अच्छे इंस्टीट्यूट से विदेशी भाषा का वोकेशनल कोर्स करके जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं।
3. इवेंट मैनेजमेंट: इस वक्त यह कोर्स भारत में बहुत ही चर्चित हो गया है, क्योंकि इसकी मांग बड़े शहरों में बहुत ज्यादा बढ़ गई है। इवेंट मैनेजमेंट वोकेशनल कोर्स को करने के बाद आप बहुत ही आसानी से अच्छी जॉब पा सकते हैं। इवेंट मैनेजमेंट में किसी भी व्यक्ति को किसी इवेंट को आॅगे्रनाइज करना होता है जिसमें वे व्यक्ति पूरी प्लानिंग करता है कि कैसे इस इवेंट को शानदार बनाया जाए। इवेंट मैनेजमेंट के कोर्स को करने के लिए आप कई संस्थाओं की आॅफिशल वेबसाइट पर जाकर आप आॅनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।
4. फोटोग्राफर: आज के समय में फोटोग्राफर का करियर भी बहुत ही अच्छा करियर माना जाता है। फोटोग्राफर की मांग मीडिया हाउसेस और स्पोर्ट्स से संबंधित कई कंपनियों में काफी बढ़ रही है और अन्य कई संस्थाएं भी हर साल फोटोग्राफर के पदों के लिए आवेदन मांगती हैं। एक फोटोग्राफर फ्रीलांसिंग के तौर पर भी अच्छी कमाई कर सकता है। आप फोटोग्राफर का कोर्स 10वीं या 12वीं के बाद भी कर सकते हैं। इस डिप्लोमा वोकेशनल कोर्स को करने के बाद आप किसी भी संस्था में अप्लाई कर सकते हैं।
5. डिप्लोमा इन ग्राफिक डिजाइनिंग: ग्राफिक डिजाइनर को भी एक अच्छा करियर आॅप्शन के तौर पर देखा जा सकता है। ग्राफिक डिजाइनर लोकेशन और करने के बाद आप आर्किटेक्चर कंपनियों में और मीडिया हाउसेस व अन्य कई प्रकार की कंपनियों में जॉब पा सकते हैं। इसके लिए आपको कम से कम छह महीने का डिप्लोमा इन ग्राफिक डिजाइनिंग करना पड़ता है, जो आप किसी भी मान्यता प्राप्त संस्था से कर सकते हैं। अपना अच्छा करियर बना सकते हैं।
6. डिप्लोमा इन 3डी एनीमेशन: विश्व व भारत में एनिमेशन क्षेत्र अब बहुत विशाल रूप धारण कर
चुका है। भविष्य में इसमें बहुत अधिक रोजगार पैदा होने की संभावनाएं हैं। 3 डी एनीमेशन की मांग गेमिंग क्षेत्र में व अन्य इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी क्षेत्रों में बहुत अधिक है और आप इसके लिए छह महीने या एक वर्ष का डिप्लोमा कर अपना करियर बना सकते हैं।
7. डिप्लोमा इन योगा: वर्ष 2015 के बाद योग क्षेत्र का बहुत अधिक विकास हुआ हैऔर इसमें रोजगार की आपार संभावनाएं हैं। यदि आपने एक अच्छा योग वोकेशनल कोर्स किया है, तो आप किसी भी संबंधित संस्था में आसानी से जॉब पा सकते हैं। आयुष मंत्रालय योग के कई कोर्स करवाती हैं और यह भारत सरकार की संस्था है। इससे कोर्स करने के बाद आप योग ट्रेनर व अन्य योग से संबंधित सरकारी संस्थाओं में भी अप्लाई कर सकते हैं और अच्छी जॉब पा सकते हैं।

अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें Facebook और TwitterInstagramlinked in , YouTube  पर फॉलो करें।